gangwar at dwarka mor metro station-constable naresh kumar

Delhi News In Hindi: 56 इंच के सीने को लेकर देश की राजनीति में कई बयानबाजी होती है देश के नेताओं का सीना 56 इंच का हो ना हो पर Delhi Police के जांबाज सिपाही नरेश कुमार-constable naresh kumar का सीना 56 इंच का है जिन्होंने अकेले 5 मिनट में कुख्यात अपराधी को बीच सड़क पर ढेर कर दिया.

घटना बीते रविवार की है जब दिल्ली के द्वारका मोड़ मेट्रो स्टेशन-dwarka mor metro station के पास कुछ बदमाश ट्रेफिक रुकवाकर एक सफ़ेद रंग की Dzire कार को रुकवाकर दिन दहाड़े फायरिंग करने लगे. गैंगवार को देखकर वंहा उपस्थित लोगो की सांसे थम सी गयी चारो और दहशत फ़ैल गयी.

बीच सड़क पर मंजीत महल गैंग के प्रवीण गहलोत पर गैंगस्टर विकास दलाल और उसके साथियो ने हमला बोल दिया विकास दलाल की गोली से प्रवीण गहलोत मारा गया वंही नरेश कुमार की गोली से विकास दलाल मारा गया . लोगो ने इस घटना की तुलना गैंग्स ऑफ़ वासेपुर फिल्म- Gangs of Wasseypur से की है.

गोलियों की आवाज सुनकर वंहा पहुंचे दिल्ली पुलिस के कॉस्टेबल नरेश कुमार ने अकेले मोर्चा संभाला. नरेश ने मेट्रो पिलर के पीछे छिपकर बदमाशों पर 3 गोलियां दागी, जिसमें से एक गोली से गैंग्स्टर विकास दलाल को मार गिराया.

इस साहसिक घटना के बाद 56 साल के नरेश रातोंरात हीरो बन गए हैं. नौकरी के आख़री पड़ाव में दिल्ली पुलिस ने उन्हें इस बहादुरी के लिए ‘आउट ऑफ़ टर्न प्रमोशन- out-of-turn promotions ‘ देने का फ़ैसला किया है. आपको बता दें कि वर्तमान में दिल्ली पुलिस की PCR सेवा में तैनात नरेश कुमार साल 1991 में दिल्ली पुलिस में शामिल हुए थे.

नरेश के परिवार के अधिकतर लोग पुलिस में ही कार्यरत हैं. नरेश के बेटे ने भी हाल ही में कॉन्स्टेबल के तौर पर दिल्ली पुलिस जॉइन की है. नरेश की इस उपलब्धि से उसका पूरा परिवार भी ख़ुश है. पिछले दो पीढ़ियों में नरेश के परिवार का कोई भी शख़्स ऐसा नहीं कर पाया.

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में नरेश ने कहा कि ‘मैंने इससे पहले कई ख़तरनाक जगहों पर रेड मारी, लेकिन ये घटना सबसे अलग थी. इस दौरान मैंने अकेले मोर्चा संभाला. पुलिस को सूचित करने के लिए मेरे पास बैक-अप भी नहीं था. वक़्त कम था इसलिए मैंने सिर्फ़ 5 मिनट के अंदर 3 गोलियां चलाकर गैंगस्टर विकास दलाल को मार गिराया.