• सात समंदर पार से दुल्हन आई शादी करने परमाणु नगरी पोकरण में।
  • पोकरण निवासी शशि कुमार व्यास रूस के मोस्को की रहने वाली स्वेतलाना से हुई शादी।
  • बुधवार को दोनो ही बंधे शादी के बंधन में।
  • देशी दूल्हा-विदेशी दुल्हन बना आकर्षक का केंद्र,

Pokran News|By Rajendra Soni

वैदिक मंत्रों उच्चारणों के बीच बुधवार को विदेशी मेम देशी दूल्हे के साथ विवाह के बंधन में बंध गई। अपने आप मे अनोखी और पोकरण में पहली शादी होगी। जब कोई विदेशी मेम सात समंदर पार कर पोकरण में देशी दूल्हे के साथ शादी के बंधन में बंधी हो।

पिछले दो दिनों से ये शादी न पोकरण बल्कि सोशल मीडिया से सब जगह आकर्षक व चर्चा का विषय बनी हुई हैं। वही विदेशी दुल्हन शादी के बाद काफी प्रसन्न नज़र आ रही थी।

भारत के लोग विदेशों में जाकर शादी करते है, तो कई विदेशी भी है, तो भारत की महान संस्कृति से प्रभावित होकर यहां आते है और सात जन्मों के बंधन में बंधते है, लेकिन ऐसा वाकया कम ही देखने को मिलता कि कोई विदेशी युवती भारत के युवक से शादी करे और जन्म जन्मांतर तक साथ रहने की कसमें खाते है।

पोकरण का दूल्हा रूस की दुल्हन, देशी दूल्हा और विदेशी दुल्हन की हर तरफ चर्चा 1

ऐसा ही कुछ देखने को मिला बुधवार को शक्ति व भक्ति के केन्द्र परमाणु नगरी पोकरण में, जब रूस की एक युवती स्थानीय युवक से सात फेरे लिए।

पोकरण के स्थानीय निवासी शशिकुमार व्यास की शादी 13 मार्च बुधवार को हुई । जिसकी अर्धांग्नि बनी रूस निवासी स्वेतलाना।

दो वर्ष पूर्व हुई मुलाकात पहुंची शादी के मंडप तक:-

स्वर्णनगरी जैसलमेर में वर्ष 2012 में आयोजित हुए मरु महोत्सव के दौरान मिस्टर डेजर्ट बने शशिकुमार व्यास प्रतिवर्ष मरु महोत्सव जाते है। इस दौरान वर्ष 2017 में उसकी मुलाकात रूस के मोस्को निवासी स्वेतलाना से हुई।

यह मुलाकात दोस्ती में बदली और इंटरनेट के माध्यम से मोबाइल पर बात होने लगी। कुछ ही दिनों में यह दोस्ती प्यार में बदल गई और शादी के मंडप तक पहुंच गई।

दुल्हे व्यास कहा कि जोडिय़ां ऊपर वाला बनाता है। उनके भाग्य में विदेशी युवती से शादी करना ही लिखा था। ऐसे में यह प्यार उसे शादी तक ले आया। बुधवार को यह युगल सात फेरे लेकर जन्म जन्मांतर तक साथ निभाने की कसमें लेंगे।

हिन्दू रीति रिवाज हुई शादी:-

स्थानीय निवासी शशिकुमार व्यास व रूस के मोस्को निवासी स्वेतलाना बुधवार को हिन्दू रीति रिवाज के साथ शादी की।

मंगलवार को दोपहर 12 बजे बाद गणेश स्थापना व हल्की की रस्म के साथ शादी के कार्य की शुरुआत की गई। इसके बाद दुल्हे व दुल्हन के हाथों पर मेहंदी रचाई गई।

पोकरण का दूल्हा रूस की दुल्हन, देशी दूल्हा और विदेशी दुल्हन की हर तरफ चर्चा 2

मंगलवार रात्रि में महिला संगीत का कार्यक्रम भी आयोजित किया गया। बुधवार को विदेशी दुल्हन स्थानीय निवासी युवक शशि कुमार व्यास के साथ सात फेरे लिये और इस विशेष विवाह का परमाणु नगरी साक्षी बना।

फोर्ट, होटल व व्यासों की बगेची में चहल पहल, कस्बे में चर्चा का विषय:

मास्को से दुल्हन स्वेतलाना अपने पिता, भाई, भाभी, भतीजे तथा आठ-दस सहेलियों के साथ यहां पहुंची है। दुल्हन व उनके परिवारजनों को कस्बे के बालागढ़ फोर्ट व जोधपुर रोड स्थित एक निजी होटल में ठहराया गया है।

जबकि शादी का मांगलिक कार्यक्रम कस्बे के फलसूण्ड रोड स्थित व्यासों की बगेची में संपन्न करवाया । ऐसे में फोर्ट, होटल व व्यासों की बगेची में चहल पहल नजर आई है।

इसी प्रकार इस विशेष शादी को लेकर कस्बे में चर्चाओं का बाजार गर्म है। कस्बे में चाय की थड़ी व चौपाळों पर इस शादी को लेकर चर्चा होती नजर आ रही है।