emitra kiosk rate list
           

Rajsamand News / फर्जी मार्कशीट बनाने के मामले में पुलिस ने गुरुवार को ई-मित्र संचालक पुनीत (26) पुत्र गणपतलाल सोनी निवासी रिछेड़ को गिरफ्तार कर लिया।आरोपी युवक पर अन्य कई तरह के फर्जी दस्तावेज बनाने का शक हैं।

जांच अधिकारी एएसआई कैलाश पालीवाल ने बताया कि पुनीत 200 रुपए में एक मार्कशीट बनाता था, वहीं पुनीत  रिछेड़ के आसपास के ग्रामीणों के आरटीओ संबंधित काम करने के लिए दस्तावेज एकत्रित कर आरटीओ दलाल को देता था। दलाल को  प्रति दस्तावेज पर 400 रुपए कमीशन देता था। हालांकि पकड़ में आने से पूर्व पुनीत ने 6 लोगों के हेवी लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस भी बना दिए।

पुनीत के पास चार आठवीं पास की मार्कशीट थी, जो डाइट नाथद्वारा से सत्यापन करवाया। लेकिन कोई रिकॉर्ड नहीं मिलने पर फर्जी निकली। वहीं शेष तीन 10वीं की मार्कशीट को माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर भेज कर सत्यापन करवाया जाएगा। पुलिस ने इस मामले में पहले दलाल सहित आवेदनकर्ता को गिरफ्तार किया था। जांच अधिकारी एएसआई कैलाश पालीवाल ने बताया कि आरोपी ई-मित्र संचालक पुनीत से पूछताछ की जारी है। मामले में और कई नाम आने की संभावना जताई। पुलिस जांच कर रही है।

ये भी पढ़ें :