IT Act 2019 India

New Delhi. भारत  सरकार फेक न्यूज और चाइल्ड पॉर्नोग्राफी पर लगाम लगाने के लिए आईटी एक्ट में संशोधन करने जा रही हैं . IT Act के इन संशोधनों में एक्ट का पालन नहीं करने पर भारी जुर्माने का प्रावधान है।

डेटा प्रोटकेशन बिल में सरकार के नियमों का उल्लंघन करने वाली कंपनियों से अधिकतम 15 करोड़ रुपये या दुनिया भर की कमाई का 4% हिस्सा, इनमें से जो भी ज्यादा हो बतौर पेनल्टी वसूली जाएगी। 

सूचना एवं तकनीकी मंत्रालय ने एक ड्राफ्ट जारी किया हैं जिसमें फेक न्यूज और चाइल्ड पॉर्नोग्राफी को बड़ी समस्या बताते हुवे इसे रोकने के लिए आईटी एक्ट में यह संशोधन प्रस्तावित है। रिपोर्ट के मुताबिक संशोधन के इस प्रस्ताव में कानून का उल्लंघन करने वाली Website और Apps को बंद करने तक का प्रावधान होगा।

सूचना एवं तकनीकी मंत्रालय पिछले महीने गूगल, फेसबुक, वॉट्सऐप, ट्विटर और दूसरी इंटरनेट कंपनियों के आला अधिकारी से इस विषय में बातचीत की है। 

सरकार के इस फैसले से सोशल मीडिया कंपनियों पर काफी प्रभाव पड़ेगा. Whatsapp,Facebook,Twitter जैसी कंपनिया Deta Protection बिल के कारण काफी परेशानी में पड सकती हैं . Fake News और Mob lynching की बढती घटनाओं से सरकार नाराज हैं और कंपनियों पर दबाव है कि वो फेक न्यूज का ऑरिजिन सरकार को बताये .

ये भी पढ़ें :