free helmet distribution by minister pratap singh khachariyawas
           
परिवहन मंत्री राजस्थान प्रताप सिंह खाचरियावास ने करीब 200 हेलमेट का वितरण किया। हर हेलमेट ग्रहण करने वाले व्यक्ति की आरसी एवं डाइविंग लाइसेंस की जांच की गई। 

जयपुर। परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने शनिवार को सोडाला चौराहे पर निःशुल्क हेलमेट वितरण कार्यक्रम में पैदल चलने वाले लोगों से अपील की है कि चौराहे पर ट्रेफिक के रुका होने पर यानी केवल लाल बत्ती होने पर ही जेब्रा कॉसिंग से सड़क पार करें और चौपहिया वाहन चलाते समय सीट बैल्ट एवं दुपहिया चलाते समय हेलमेट लगाकर ही सड़क पर निकलेंं। उन्होंने कहा कि सड़क दुर्धटना में घायलों को अस्पताल पंहुचाने वाले नागरिको को राज्य सरकार गुड सेमेरिटन को पुरस्कृत करेगी। 

उन्होंने कहा कि बिना हेलमेट या हेलमेट लगाने के बावजूद बिना उसकी स्टे्रप लगाए वाहन चलाने, सीट बैल्ट लगाए बिना चौपहिया चलाने, दोनों कानों में ईयरफोन पर गाना सुनते हुए सड़क पर चलने जैसी असावधानियों के कारण सड़क दुर्घटनाएं तेजी से बढी हैं।

उन्होंने 30वें सड़क सुरक्षा सप्ताह के आरम्भ में की गई अपनी घोषणा को दोहराते हुए कहा कि सड़क दुर्घटना में घायलों की सहायता करने, उन्हें अस्पताल पहुंचाकर उनकी जान बचाने वाले भले नागरिकों गुड सेमेरिटन को राज्य सरकार सम्मानित करेगी। कानून भी ऎसे व्यक्तियों का साथ देगा और उन्हें कोई परेशानी नहीं होगी।

खाचरियावास ने कहा कि बहुत से संगठन और समाज सेवी हेलमेट निःशुल्क प्रदान करने के लिए तैयार हैं, लेकिन सबसे जरूरी है इसका उपयोग करना। उन्होंने हेलमेट प्राप्त करने वालों को भी वाहन चलाते समय हमेशा हेलमेट लगाने की ताकीद की। 

इस अवसर पर परिवहन विभाग के सड़क सुरक्षा प्रकोष्ठ की प्रभारी उपायुक्त निधि सिंह  ने कहा कि आज प्रदेश में सड़क दुर्घटना में बड़ी संख्या में मौतें हेलमेट नहीं पहनने के कारण सिर की चोट से होती हैं। हेलमेट पहने बिना सड़क पर वाहन चलाना स्वयं को संकट में डालना है। 

कार्यक्रम का आयोजन करने वाले राहुल सेठी ने कहा कि उन्हें सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान हेलमेट वितरण की प्रेरणा परिवहन मंत्री से मिली जो स्वयं हमेशा दुपहिया पर हेलमेट लगाकर ही निकलते हैं। सेठी ने बताया कि उनका यह अभियान आगे भी जारी रहेगा। कार्यक्रम के आयोजनकर्ता संदीप अग्रवाल ने भी सम्बोधित किया।

ये भी पढ़ें :