andy rubin google metoo

World News/ बॉलीवुड में जारी #metoo movement से जंहा कई कलाकारों का जीवन प्रभावित हुवा वंही गूगल में भी यौन शोषण के मामले सामने आये हैं। एंड्राइड बनाने वाली टीम के सदस्य एंडी रुबीन पर 2013 में गूगल में काम करते हुए यौन शोषण के आरोप लगे थे।

एंडी रुबीन पर आरोप लगाने वाली महिला गूगल में ही काम करती थी। महिला android बनाने वाली टीम की सदस्य थी वो रूबीन से संबंध खत्म करना चाहती थी पर नौकरी के डर से वो रूबीन को ना नहीं कर पायी। रुबिन ने आखिरी बार होटल के कमरे में बुलाकर महिला को Oral Sex के लिए मजबूर किया था। गूगल इस तरह के मामलों में किसी को एग्जिट प्लान के तहत पैसा नहीं देती है।

यौन शोषण के आरोप के बावजूद कंपनी ने उन्हें 660 करोड़ रुपए का मुआवजा देकर कंपनी से हटने के लिए राजी किया। अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, रुबीन को एग्जिट प्लान के तहत 9 करोड़ डॉलर (660 करोड़ रु.) दिए गए। ये रिपोर्ट कोर्ट में दर्ज शिकायत के आधार पर छपी है। इसमें आरोप लगाने वाली महिला का बयान शामिल है।

google ने किया एक्जिट पैकेज देने से इंकार

गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने सफाई में कहा, ‘हमने दो साल में यौन शोषण के आरोपी 48 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला है। इनमें 13 वरिष्ठ अफसर शामिल हैं। किसी भी आरोपी कर्मचारी को एग्जिट पैकेज नहीं दिया गया। पिचाई ने कंपनी के कर्मचारियों को ईमेल किया है। उन्होंने लिखा है-हम आश्वस्त करना चाहते हैं कि यौन उत्पीड़न और अनुचित व्यवहार की हर एक शिकायत का रिव्यू किया जाता है।

रुबीन के विदाई भाषण में लैरी पेज ने कहा था- ‘हम एंडी रुबीन के अच्छे भविष्य की कामना करते हैं। उनका बनाया एंड्राॅयड आज करोड़ों लोगों के हाथाें में हैं। कंपनी उनके योगदान को कभी नहीं भुला सकती।’

 रुबीन के प्रवक्ता बोले- पूर्व पत्नी ने तलाक की वजह से बदनाम किया है

रुबीन के प्रवक्ता सैम सिंगर ने कहा, ‘एंडी रुबीन ने अपनी मर्जी से गूगल को छोड़ा है। उन्हें निकाला नहीं गया है। वे नई कंपनी शुरू करना चाहते हैं। उन्होंने होटल के कमरे में किसी भी महिला को यौन संबंध बनाने के लिए मजबूर नहीं किया। ये झूठे आरोप रुबीन की पूर्व पत्नी ने तलाक के केस के दौरान उन्हें बदनाम करने के लिए लगाए थे।’