hajj 2019 news
           

जयपुर | हजयात्रा-2019 पर जाने के लिए चयनित आजमीनों को पहली बार खून जांच रिपोर्ट के साथ सरकारी डॉक्टर से हेल्थ फिटनेस प्रमाण और चेस्ट का डिजिटल एक्सरे भी करवाना होगा. राजस्थान के नए अल्पसंख्यक मामलात और वक्फ मंत्री सालेह मोहम्मद ने हज का कुर्रा खोलकर Hajj-2019 की शुरुआत की थी.

इससे पहले भी हज पर जानेवाले यात्रियों को सामान्य जांच से गुजरना पड़ता था और शुगर, बीपी तथा हार्ट से संबंधित बीमारियों की रिपोर्ट ही देनी होती थी. लेकिन नये नियमों के बाद हजयात्रियों की मेडिकल स्क्रीनिंग की जाएगी.

मेडिकल प्रमाण पत्र के लिए सरकारी डॉक्टर से करवाई गयी जांच जरूरी होगी और ये सभी रिपोर्ट हजयात्रा राशि की पहली किश्त जमा अदायगी की पर्ची के साथ 5 फरवरी तक हज हाउस में जमा करानी होगी. ऐसा नहीं करने पर हज यात्री का चयन रद्द कर दिया जाएगा.

राज्य हज कमेटी के अनुसार चयनित आवेदकों को निर्देश दिए गए हैं कि अदायगी राशि 81 हजार रुपए हज कमेटी ऑफ इंडिया, मुम्बई के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की खाता संख्या 32175020010 या यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के खाता संख्या 318702010406009 (हज अकाउंट) में जमा करवानी होगी.

इसके बाद जमा अदायगी पर्ची, इंटरनेशनल मशीन रीडेबल पासपोर्ट, एक्सरे रिपोर्ट, ब्लड रिपोर्ट, मेडिकल स्क्रीनिंग और स्वास्थ्य प्रमाण पत्र हज हाउस में जमा करवाना होगा. 

ये भी पढ़ें :