India-US joint warfare vajra Prahar from November
फाइल फोटो

बीकानेर। भारत-पाक अंर्तराष्ट्रीय सीमा क्षेत्र में भारत-अमेरिका संयुक्त युद्धाभ्यास ‘ वज्र प्रहार ‘ नंवबर माह से शुरु हेागा। यह अभ्यास बारी-बारी से भारत एवं अमेरिका में आयोजित किया जाता है। ‘वज्र प्रहार’ संयुक्त प्रशिक्षण युद्धाभ्यास की शुरुआत वर्ष 2010 में हुई थी।

रक्षा सूत्र बतातें है कि एशिया की सबसे बड़ी बीकानेर जिले की महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में भारत – अमेरिका संयुक्त युद्वाभ्यास वज्र प्रहार 2018  इस बार 19 नंवबर से शुरु हेाकर 2 दिसंबर 2018 तक होगा।

इसमें भारत व अमेरिका के सैन्य अधिकारी व जवान भाग लेंगे। दोनेां देशों के इस संयुक्त युद्वाभ्यास का उद्वेश्य विशेष बलों के मध्य रणनीतियों के पारस्परिक आदान-प्रदान और अंतर संक्रियता को बढ़ावा देने के माध्यम से भारत एवं अमेरिका के बीच सैन्य संबंधों को प्रोत्साहित करना है।

सूत्र बतातें है कि इस अभ्यास में विद्रोह-रोधी एवं आतंकवाद-रोधी वातावरण में अभियान संचालित करने की विशेषज्ञता साझा करके संयुक्त रणनीतियों का विकास करना भी शामिल है।

गौरतलब है कि जनवरी, 2018 में भारत एवं संयुक्त राज्य अमेरिका की सेनाओं का संयुक्त सैन्य अभ्यास ‘वज्र प्रहार’ संयुक्त बेस लेविस मैकॉर्ड , सिएटल, संयुक्त राज्य अमेरिका में आयोजित हुआ। अभ्यास में भारतीय सेना के दक्षिणी कमान की 45 सदस्यीय सदस्यीय विशेष बल टीम शामिल हुई।

‘वज्र प्रहार’ संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास की शुरुआत वर्ष 2010 में हुई। यह अभ्यास वर्ष 2012 से 2015 के मध्य तीन वर्षों की अवधि में आयोजित नहीं हुआ था। ‘वज्र प्रहार’ अभ्यास का विगत संस्करण मार्च, 2017 में राजस्थान में आयोजित हुआ था।

इस युद्धाभ्यास का मकसद दोनों देशों की सैन्य टुकडियां का एक-दूसरे की संगठनात्मक रचना, हथियारों व सैन्य उपकरणों से रुबरु होना है।