Mamta Bhupesh women and child development minister Rajasthan

महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री ने दिए पोषाहार गुणवत्ता की जांच निर्देश
जयपुर। महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री ममता भूपेश ने विभाग द्वारा पोषण कार्यक्रम के तहत बच्चों और महिलाओं को वितरित किए जाने वाले पोषाहार की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए इसकी जांच करवाने के निर्देश हैं।

ममता भूपेश बुधवार को महिला एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रही थीं। उन्होंने बताया कि उन्हें घटिया पोषाहार आपूर्ति की शिकायतें प्राप्त हो रही थीं, जिसकी जांच के लिए उन्होंने तीन सदस्यीय समिति गठित करने के निर्देश दिए हैं। यह समिति 15 दिन में अपनी जांच रिपोर्ट सौंपेगी। अगर जांच में घटिया पोषाहार आपूर्ति की शिकायत को सही पाया गया, तो सम्बंधित के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। 

महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री ने बताया कि महिला अधिकारिता एवं समेकित बाल विकास सेवा निदेशालय में रिक्त पदों को भर्ती के लिए अभ्यर्थना सम्बंधित एजेंसियों को भिजवार्ई जाएगी। उन्होंने अधिकारियों को सरकार के विजन के अनुसार कार्य करने के निर्देश दिए। साथ ही विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए।

आंगनबाड़ियों को स्मार्ट आंगनबाड़ी बनाया जाएगामहिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री ममता भूपेश ने बताया कि प्रदेश की आंगनबाड़ियों को स्र्माट आंगनबाड़ी बनाया जाएगा। ताकि लोगों मेें इनके प्रति आकर्षण पैदा हो सके और यहां मिलने वाली सुविधाओं से अधिक संख्या में बच्चे लाभान्वित हो सकें। उन्होंने अधिकारियों को आंगनबाड़ियों के कायाकल्प के लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए। 

महिलाओं की सहायता के लिए स्थापित होगा वूमन हेल्पलाइन कॉल सेंटर ममता भूपेश ने बताया कि महिलाओं की सहायता के लिए एक वूमन हेल्पलाइन कॉल सेेंटर स्थापित किया जाएगा। यह कॉल सेंटर 24 घंटे और 365 दिन काम करेगा। इसकी खास बात यह होगी कि इसका संचालन भी महिलाओं द्वारा ही किया जाएगा। 

बैठक में महिला एवं बाल विकास विभाग सचिव गायत्री राठौड़, निदेशक महिला सशक्तीकरण श्री पी.सी. पवन, निदेशक समेकित बाल विकास सेवाएं सुषमा अरोड़ा सहित उच्चाधिकारी उपस्थित थे। 

ये भी पढ़ें :