mamta bhupesh women minister rajasthan order for muslim women


जयपुर। अल्पसंख्यक मामलात एवं वक्फ विभाग राज्य मंत्री ममता भूपेश की अध्यक्षता में राजस्थान मदरसा बोर्ड भवन के सभा कक्ष में गुरूवार को अल्पसंख्यक मामलात विभाग द्वारा संचालित योजनाओं एवं कार्यक्रमों की समीक्षा बैठक आयोजित हुई।

राज्य मंत्री ने महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग से अल्पसंख्यक समुदाय का डाटा लेकर समुदाय की महिलाओं को प्रशिक्षित कर अमृता हाट की तर्ज पर महिला सशक्तिकरण एवं व्यवसायिक क्षमता बढ़ाने के निर्देश दिये। 

उन्होंने कहा कि हमे जरूरतमंदों के लिए संवेदनशील होने की जरूरत है। अल्पसंख्यक समुदाय के विकास के लिए उनकी शिक्षा, स्वास्थ एवं रोजगार पर ध्यान देना होगा। 

अल्पसंख्यक समुदाय के मौहल्लों में सड़क, सफाई, शौचालय पीने का पानी आदि मुलभूत सुविधाएं पहुंचानी होगी। उन्होंने विभाग के जिला स्तरीय कल्याण अधिकारियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि वे विभाग द्वारा चलाई जा रही शिक्षा सम्बन्धी योजना का भरपूर प्रचार प्रसार करे।

’’स्मार्ट आंगनबाड़ी केंद्रों’’ में डिजीटल क्लासरूम के साथ खिलौने एवं रंगीन चार्ट के माध्यम से ’’फन लर्निंग’’ का माहोल बनाये जिससे बच्चों में शिक्षा एवं खेलकूद के प्रति लगाव एवं उत्साह बढ़े।


भूपेश ने विभाग की छात्रवृति योजना पर चर्चा करते हुए निर्देश दिए कि ऎसे छात्र जिन्होंने शिक्षा एवं रोजगार में कीर्तिमान स्थापित किया है विभाग उन्हें पुरस्कृत करने का नवाचार आरम्भ करे जिससे समुदाय के बच्चें प्रोत्साहित हो। 

बैठक में प्रस्तुतीकरण के माध्यम से विभाग की विभिन्न योजनाओं एवं कार्यों की विस्तृत जानकारी दी गई। प्रमुख शासन सचिव अल्पसंख्यक मामलात एवं वक्फ विभाग अपर्णा अरोड़ा ने विभाग के अधीन राजस्थान मदरसा बोर्ड, राजस्थान वक्फ विकास परिषद राजस्थान, राज्य हज कमेटी आदि की ढाचागत जानकारी दी।

उन्होंने बताया पी.एम.जे.वी.के. योजना के अन्तर्गत कुल 16 जिलों में शिक्षा, स्वास्थ, कौशल विकास पर कार्य किये जा रहे है। विभाग की छात्रवृति योजना पूरी तरह ऑनलाइन है जिससे राशि प्रार्थी के खाते में सीधे जमा होती है।

उन्होंने बैठक में विभाग द्वारा दिए जा रहे विभिन्न प्रकार की ऋण योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने जिला स्तरीय कल्याण अधिकारियों से प्रगति रिपोर्ट ली एवं उनकी चुनौती एवं मुद्दों पर चर्चा की। 

इस अवसर पर बैठक में अल्पसंख्यक मामलात एवं वक्फ विभाग की संयुक्त शासन सचिव प्रतिभा पारीक, निदेशक कैलाश बैरवा, अतिरिक्त निदेशक नीलीमा तक्षक, उप निदेशक गुंजन सोनी एवं अन्य अधिकारीगण मौजूद थे।