the Rajasthan assembly elections 2018

बीकानेर। विधानसभा चुनावों में इस बार अपनी प्रतिष्ठा बचाने के लिये मैदान में उतरे कांग्रेसी दिग्गज डॉ.बीडी कल्ला के खिलाफ दशकभर से कायम जन विरोधी हालात अभी खत्म नहीं हुए है। सियासी जानकारों के अनुसार जन विरोधी हालातों के कारण ही डॉ.कल्ला को इस सीट पर सीधी टक्कर में लगातार दो बार हार का सामना करना पड़ा है। हालात अबकी बार भी खास बदले हुए नहीं है,बल्कि माली समाज की नाराजगी के कारण दुगुना विरोध देखने को मिल रहा है।

जानकारी में रहे कि साल २००८ के विधानसभा चुनावों में जन विरोध के माहौल में डॉ.कल्ला को भाजपा के डॉ.गोपाल जोशी ने सीधी टक्कर में जबरदस्त पटखनी दी,इसके बाद साल२०१३ के विधानसभा चुनावों की सीधी टक्कर में भी डॉ.गोपाल जोशी ने डॉ.बीडी कल्ला करारी शिकस्त दी,तीसरी बार दोनों फिर सीधी टक्कर के लिये तैयार है।

बीकानेर के सियासी विश्लेषकों की मानें तो सीधी टक्कर में डॉ.बीडी कल्ला को हमेशा शिकस्त खानी पड़ी है। इस बार भी सीधी टक्कर होने से डॉ.कल्ला की जीत आंशकित मानी जा रही है। चुनावी विश्लेषकों ने बताया कि कांग्रेसी डॉ.कल्ला का समुदाय विशेष से ज्यादा लगाव भी शहर में जन विरोध का एक बड़ा कारण माना जाता है,इसके अलावा पिछले चुनावों में कांग्रेसी टिकट दिलाने का झांसा देकर वैश्य समुदाय के नेता बल्लभ कोचर के साथ की गई दगाबाजी शहर में डॉ.कल्ला के खिलाफ वैश्य समाज के लोगों में विरोध का सबसे बड़ा कारण बनी थी,जो आज भी कायम है।

वहीं इस बार माली समुदाय में कायम भारी नाराजगी बढने से डॉ.कल्ला के लिये यह चुनाव जीतना खासा मुश्किल बना हुआ है। ऐसे में साफ तौर पर दिख रहा है कि बीकानेर पश्चिम में भाजपा की हैट्रिक को रोकना कांग्रेस के लिये बड़ी चुनौति होगा।

फजीहत के बाद खौफ खाने लगे कल्लाजी
बीकानेर के चुनावी समर इस बार कांग्रेस दिग्गज डॉ.बीडी कल्ला अपनी चुनावी सभाओं में मोबाईल कैमरे से इस कदर खौफजदा है कि पार्टी कार्यकर्ता हो या जनता, हर जगह भाषण देते समय कल्लाजी की नजरें मोबाइल पर टिकी होती हैं और खास तौर से ध्यान रखते है कि कोई रिकॉर्डिंग तो नहीं कर रहा है। कल्लाजी के नजदीकी लोगों का ही कहना है कि भारत मात की जय रूकवाकर..सोनिया माता की जय …वाला वीडियो वॉयरल होने के बाद कल्लाजी मोबाईल रिकॉर्डिंग की हर गतिविधि से खौफ खाने लगे है। जानकारी में रहे कि कल्लाजी के इस वीडियों को भाजपा ने राष्ट्रीय स्तर का मुद्दा बना लिया था।