Food Department Rajasthan News

जयपुर| खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलात मंत्री रमेश चंद मीणा ने शुक्रवार को बताया कि प्रदेश में माह फरवरी, 2019 के लिये 2 लाख 25 हजार 200 मी.टन गेहूं, माह जनवरी से मार्च, 2019 तक के लिये 1421.40 मी.टन चीनी तथा माह जनवरी, 2019 के लिये 640.80 लाख लीटर केरोसीन का आवंटन कर पात्र लाभार्थी परिवारों को आवंटन करने के निर्देश जारी कर दिये हैं।

उन्होंने बताया कि खाद्य सुरक्षा योजनान्तर्गत अन्त्योदय परिवारों सहित पात्र लाभार्थी परिवारों के लिये गेहूं, सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत अन्त्योदय अन्न योजना के परिवारों के लिये चीनी तथा सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत बिना घरेलू गैस कनैक्शन राशनकार्ड धारी उपभोक्ताओं के लिये केरोसीन का आवंटन किया गया है।

मीणा ने बताया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना (National Food Security Act, 2013) के तहत चयनित सभी पात्र लाभार्थियों/परिवारों को खाद्यान्न गेहूं उपलब्ध कराने के लिये सभी जिलों की उचित मूल्य की दुकानों को आवंटन किया गया है। परिवारों की संख्या के आधार पर जयपुर जिले के लिये माह फरवरी, 2019 के लिये अधिकतम 14713.745 मी.टन तथा जैसलमेर जिले के लिये न्यूनतम 2094.385 मी.टन गेहूं का आवंटन किया गया है।

उन्होंने बताया कि इसी प्रकार सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) के अन्तर्गत अन्त्योदय अन्न योजना के तहत पात्र 6 लाख 83 हजार 623 परिवारों को चीनी उपलब्ध कराने के लिये जिलेवार आवंटन किया गया है।

योजना के तहत प्रत्येक पात्र परिवार को प्रतिमाह 1 किलो चीनी आवंटित की गई है। उन्होंने बताया कि माह जनवरी से मार्च, 2019 तक के लिये बांसवाड़ा जिले को सर्वाधिक 115.05 मी.टन चीनी तथा जैसलमेर जिले को न्यूनतम 11.55 मी.टन चीनी का आवंटन किया गया है।

खाद्य मंत्री ने बताया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत प्रत्येक बिना घरेलू गैस कनैक्शन राशनकार्डधारी उपभोक्ता परिवार को प्रतिमाह 2.50 लीटर केरोसीन उपलब्ध कराया जाने के लिये जिले वार केरोसीन का आवंटन किया गया है। उन्होंने बताया कि माह जनवरी, 2019 के लिये नागौर जिले को अधिकतम 57 लाख 60 हजार लीटर तथा जैसलमेर व झुंझुनूं जिलों को न्यूनतम 4.32 -4.32 लाख लीटर केरोसीन का आवंटन किया गया है।

शासन सचिव, खाद्य विभाग मुग्धा सिन्हा ने बताया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत अन्त्योदय अन्न योजना (Antyodaya Anna Yojana) के परिवारों को पोस मशीनों(Pos Machine) के माध्यम से ही चीनी का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पात्र अन्त्योदय अन्न योजना का परिवार तीन माह की कुल 3 किलो चीनी का उठाव एक साथ या एकाधिक ट्रांजेक्शन के माध्यम से प्राप्त करने के लिये स्वतंत्र है।

उन्होंने बताया कि भारत सरकार की नीति के अनुसार सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत चीनी वितरण की पात्रता मात्र अन्त्योदय अन्न परिवारों के लिये ही है। इसका वितरण अन्य श्रेणी के लिये नहीं किया जा सकता है।

सिन्हा ने बताया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत वितरित किया जा रहा नीले रंग का केरोसीन ( Blue Kerosene ) खाना पकाने एवं प्रकाश व्यवस्था के लिये है तथा इसका अन्य प्रयोग पूर्णतया प्रतिबन्धित एवं दण्डनीय है। उन्होंने बताया कि नीले रंग के केरोसीन तेल के मूल्य में भारी राजकीय सहायता राशि निहित है इसलिये इसका वितरण वैध एवं अधिकृत राशनकार्ड धारकों को ही किया जाने के लिये संबंधित को निर्देशित किया गया है।