agriculture power connection news
  • एक लाख किसानों को जून माह तक चरणबद्ध रूप से विद्युत कनेक्शन जारी किए जाएं।
  • सौर-ऊर्जा के माध्यम से घरों तक रोशनी पहुंचाने के काम में भी तेजी लाई जाए।
  • सुबह 7 बजे से 11 बजे तक और शाम को 6 बजे से 10 बजे तक घरेलू बिजली की आपूर्ति में कोई कटौती नहीं होनी चाहिए।
  • कृषि फीडरों में यथा संभव दिन के समय बिजली दी जाए। 

जयपुर, 20 जनवरी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि मांग राशि जमा कराने वाले एक लाख किसानों को जून माह तक चरणबद्ध रूप से विद्युत कनेक्शन जारी किए जाएं। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि सौभाग्य योजना में वंचित रहे ग्रामीणों को भी मार्च माह तक कनेक्शन जारी करने की कार्यवाही सुनिश्चित करें।

सीएम गहलोत मुख्यमंत्री कार्यालय में प्रदेश में बिजली की मांग-आपूर्ति एवं उत्पादन की स्थिति की समीक्षा बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि दूर-दराज क्षेत्रों में सौर-ऊर्जा के माध्यम से घरों तक रोशनी पहुंचाने के काम में भी तेजी लाई जाए तथा 60 हजार कनेक्शन देने के लक्ष्य को तय समय सीमा में पूरा किया जाए।

मुख्यमंत्री ने बिजली विभाग के अधिकारियों से कहा कि सुबह 7 बजे से 11 बजे तक और शाम को 6 बजे से 10 बजे तक घरेलू बिजली की आपूर्ति में कोई कटौती नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सिंचाई के लिए भी बिना ट्रिपिंग गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। साथ ही, जहा तक संभव हो सके अधिकतर कृषि फीडरों में दिन के समय बिजली दी जाए। 

रतलाम-डूंगरपुर-बांसवाड़ा रेलवे परियोजना की रिपोर्ट जल्द तैयार करें मुख्यमंत्री ने बैठक के दौरान रतलाम-डूंगरपुर-बांसवाड़ा रेलवे लाइन परियोजना के संबंध में भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि इस संबंध में मुख्य सचिव सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श कर इसकी रिपोर्ट जल्द से जल्द तैयार करें।

बैठक में ऊर्जा मंत्री बी.डी. कल्ला, मुख्य सचिव डी.बी. गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त निरंजन आर्य, प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा नरेशपाल गंगवार सहित अजमेर, जयपुर और जोधपुर विद्युत वितरण कंपनियों के प्रबन्ध निदेशक, विद्युत उत्पादन एवं प्रसारण निगमों के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक तथा अक्षय ऊर्जा निगम के प्रबन्ध निदेशक भी उपस्थित थे।