Murder of Kalu due to illegal relations

जैसलमेर / नाचना | 12 जनवरी को अवाय गांव के पास हुवे हत्याकांड का जैसलमेर पुलिस ने खुलासा कर दिया है। जैसलमेर जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. किरण कंग ने मंगलवार शाम प्रेस कान्फ्रेंस कर हत्याकांड का खुलासा किया मृतक कालूराम बेलदार की हत्या अवैध प्रेम संबंधो के चलते हुई थी।

12 जनवरी की सुबह ग्रामीणो ने नाचना पुलिस को एक अज्ञात व्यक्ति की लाश के अवाय गांव के पास पड़ी होने की सूचना दी थी। पुलिस ने मौके पर पहुंचने पर पाया कि मृतक की हत्या गला काट कर की गयी है।

काफी मशक्कत के बाद मृतक की पहचान हरियाणा निवासी कालूराम बेलदार के रूप में हुई जो नाचना क्षेत्र में भेड़ बकरी का व्यापार करता था।

पुलिस की स्पेशल टीम ने इस क्षेत्र में अन्य बकरा व्यापारियों से पूछताछ के आधार पर मोबाइल कॉल डिटेल्स से संभावित हत्यारो का पता लगाया और हत्या के तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने जानकारी देते हुवे बताया कि मृतक की पहचान कालाराम पुत्र कंधीराम जाति ओड निवासी अकावाली पुलिस थाना टोहाना जिला फतेहाबाद हरियाणा होना ज्ञात हुआ. जिसकी शिनाख्तगी उसके बड़े भाई ओमप्रकाश सरपंच द्वारा की गई तथा यह भी पता चला मृतक कालाराम भेड़ व बकरियाॅ खरीद-फरोख्त का काम करता था.

दिनांक 10.01.2019 को गाॅव अकावाली से करीबन 14-15 व्यापारी अलग-अलग गाड़ियों मे बैठकर जिला जैसलमेर की तरफ रवाना हुए थे. जो कि दिनांक 11.01.2019 को बिकमपुर होते हुए नाचना पहुॅचे थे.

टीमों के लगातार अनुसंधान के पता चला मृतक का चुन्नीलाल की पत्नी के साथ था अवैध संबंध, चुन्नीलाल लगातार काला को मारने के लिए बना रहा था योजनाऐं

अनुसंधान के दौरान गठित टीमों द्वारा मृतक कालाराम के साथ उसके गाॅव अकावाली से रवाना होकर नाचना तक पहुॅचने वालें समस्त व्यापारियों, उनके ठहरने के स्थान बिकमपुर, नाचना, अवाय, क्षेत्रों से तकनीकी संसाधनों से साक्ष्य संकलित किये. जिसमें मुल्जिमान संदीप, पटवारी व चुन्नीलाल का घटनास्थल के आस-पास होना पाया गया.

मृतक के साथ आने वाले अन्य व्यापारियों, मृतक एवं मृतक के परिजनों के सम्बन्ध में सम्पूर्ण जानकारी जिसमें आपसी मन-मुटाव, रंजिश की स्थिती की जानकारियाॅ प्राप्त की, जिससे यह जानकारी प्राप्त हुई की मृतक कालाराम का चुन्नीलाल पुत्र लालचन्द जाति ओड निवासी लौहारू, हरियाणा हाल बिकमपुर जिला बीकानेर जो बिकमपुर में मीट की दुकान चलाता है, के पास हरियाणा क्षेत्र से आने वाले ओड जाति के समस्त बकरा व्यापारी आते जाते वक्त ठहरते है.

इन्ही के साथ मृतक कालाराम भी बकरा खरीद के लिए चुन्नीलाल के यहाॅ आते-जाते ठहरता था. इस दौरान मृतक कालाराम व चुन्नीलाल की पत्नि निमों का आपस मे प्रेम हो गया और उनमें आपस में अवैध सम्बन्ध स्थाापित हो गये. यह बात चुन्नीलाल को करीब एक साल से पता थी. इस बात का चुन्नीलाल ने विरोध किया और इसी के चलते चुन्नीलाल का अपनी पत्नि से करीब 07 माह पुर्व तलाक हो गया. तब से ही चुन्नीलाल मृतक कालाराम को मारने की फिराक में था तथा योजना बनाने लगा.

पुछताछ में उगले राज, चुन्नीलाल ने काला को मारने के लिए दिये 50 हजार रूपये ओर हथियार
इसी कड़ी में दिनांक 11.01.2019 को अकावाली से तीन पिकअप गाड़ियों में करीबन 15-16 व्यापारी बकरे खरीदने हेतु सुबह 09 बजे करीब बिकमपुर पहुॅचे, उनके साथ मृतक कालाराम भी था.

चुन्नीलाल ने अन्य व्यापारियों से बातचीत में यह जानकारी प्राप्त की कि उक्त मृतक कालाराम किस क्षेत्र में बकरा खरीदने के लिए आज जायेगा. जैसे ही सभी बकरा व्यापारी अपने-अपने वाहनों में दोपहर करीब 03 बजे बिकमपुर से नाचना, मोहनगढ़ की तरफ रवाना हुए, चुन्नीलाल ने इस सम्बन्ध में मृतक के सगे भतीजे पटवारी पुत्र फलाराम जाति ओड निवासी अकावाली व संदीप पुत्र पप्पूराम जाति ओड निवासी अकावाली से 50,000/- रूपये के बदले कालाराम की हत्या करने का सौदा तय किया तथा उनको अपनी मीट की दुकान से एक छुरा व चाकु हत्या में प्रयोग हेतु उपलब्ध करवाये.

संदीप के पास स्वयं की पिकअप गाड़ी थी, जिसमें वह पटवारी के साथ कबाड़ी का धन्धा करता था. चुन्नीलाल ने कालाराम के बकरा खरीद हेतु उतरने के स्थान की जानकारी संदीप व पटवारी को दी लेकिन इन दोनों द्वारा उक्त स्थान देखा हुआ न होने के कारण चुन्नीलाल ने मदद कर रास्ता बताया. उस रास्ते पर संदीप व पटवारी ने चलते हुए मृतक कालाराम को यह कहकर साथ लिया कि उन्हे खरीद योग्य बकरें अवाय गाॅव के पास दिखाते है.

इस पर कालाराम इनके साथ पिकअप गाड़ी में बैठ गया. जैसे ही अवाय से लुण्ढ़ायत गाॅव की सड़क से अवाय की तरफ कच्चे रास्ते पर घनी बबुल की झाड़ियाॅ व सुन सान जगह पर पहुॅचे तो उनकी गाड़ी रेत में फंस गयी. जिस पर संदीप ने मृतक कालाराम व पटवारी को टायरों के आगे से रेत हटाने व टायरों की हवा कम करने का कहा, जिस पर पटवारी व कालाराम गाड़ी के टायरों की हवा कम करने लगे इतने में संदीप व पटवारी ने पुर्व योजना अनुसार कालाराम के सिर व गले पर चाकु व छुरे से दना दन वार किये. जिससे कालाराम निढ़ाल होकर वहीं गिर गया.

जिस पर दोनों ने कालाराम को वहाॅ से उठाकर कच्चे रास्ते से थोड़ा उपर झाड़ियों के पीछे ले गये और वहाॅ पर भी मरने तक वार किये. जिससे कालाराम की मौके पर ही मौत हो गई. मृतक कालाराम की जेब से 35,000/- रूपये निकाल लिये और गाड़ी लेकर चुन्नीलाल के पास बिकमपुर चले गये. बिकमपुर पहुॅच चुन्नीलाल से मिले और उसे बताया कि तुम्हारे कहे अनुसार हमने कालाराम को मौत के घाट उतार दिया.

जिस पर पुलिस द्वारा चुन्नीलाल उर्फ धर्मपाल पुत्र लालचन्द जाति ओड उम्र 31 साल, निवासी लौहारू, हरियाणा हाल बिकमपुर पुलिस थाना बज्जू जिला बीकानेर, संदीप पुत्र पप्पूराम जाति ओड उम्र 20 साल, निवासी अकावाली पुलिस थाना टोहाना जिला फतेहाबाद, हरियाणा एवं पटवारी पुत्र फलाराम जाति ओड उम्र 22 साल, निवासी अकावाली पुलिस थाना टोहाना जिला फतेहाबाद, हरियाणा को हत्या के प्रकरण में गिरफतार किया जाकर अनुसंधान जारी. उपरोक्त तीनों मुल्जिमानों के अलावा इन्हे सहयोग करने वाले अन्य सहअपराधियों के होने की संभावना है.

गठित पुलिस टीमे
सरदारदान चारण वृताधिकारी वृत नाचना के नेतृत्व में गठित टीमेंः-

  1. देवेन्द्रसिंह कच्छावा निरीक्षक पुलिस थानाधिकारी पुलिस थाना नाचना बांकसिंह सउनि. मय हैड कानि. श्रवण कुमार, कानि. खेतपालसिंह नं. 719, कानि. पप्पूराम नं. 757 कानि. संदीप नं. 935 व चालक माणकराम नं. 442, चालक सहीपाल नं. 1039 पुलिस थाना नाचना
  2. अमरसिंह रतनू निरीक्षक पुलिस थानाधिकारी पुलिस थाना मोहनगढ मय हैड कानि. हुक्माराम नं. 189, कानि. चालक नारायणदान नं. 1098 पुलिस थाना मोहनगढ़
  3. खेताराम उप निरीक्षक पुलिस थानाधिकारी पुलिस थाना नोख मय कानि. जयप्रकाश नं. 125 पुलिस थाना नोख
  4. हैड कानि. मुकेश बीरा व कानि. दिनेश चारण, भीमरावसिंह, कंवराजसिंह तकनीकी विशेषज्ञ, साईबर सैल जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय, जैसलमेर।