objectionable and morphed pictures

जैसलमेर। जैसलमेर जैसे दूर दराज क्षेत्रों में इन्टरनेट की पहुँच के साथ ही साइबर क्राइम बढ़ता जा रहा हैं। जिले के एक गांव की बुजुर्ग महिला से लेकर बालिकाओं तक के एडिट अश्लील फोटो सोशल साइट्स पर अपलोड किए जाने का मामला सामने आया है। परिजनों ने इस बारे में सदर थाने में शिकायत दी है।

एक ही गाँव की सात से आठ महिलाओं के ये फोटो ग्रामीण क्षेत्र में सोशल साइट्स पर वायरल हुए तो परिजनों को इसका पता लगा। बेनामी आइडी से डाले गए इन फोटो में महिलाओं व बालिकाओं के चेहरे के फोटो के नीचे विदेशी महिलाओं के अश्लील फोटो चिपका कर उन्हें सोशल साइट पर डाला गया है। बताया जा रहा हैं पीडि़त सभी परिवार आपस में रिश्तेदार हैं।

जानकारी के अनुसार जब संबंधित महिलाओं को इस खुराफात का पता चला तो वे बहुत घबरा गई। ग्रामीण परिवेश की ये महिलाएं व बालिकाएं इस घटना से बुरी तरह से डरी हुई हैं। वे यह तक नहीं समझ पा रही हैं कि उनके फोटो किसी के पास कैसे पहुंच गए? दरअसल उन्हें सोशल साइट्स फेसबुक, ट्वीटर आदि के बारे में ही जानकारी ही नहीं है।

सोशल मीडिया पर ये फोटो किस उद्देश्य से अपलोड की गयी इसका अभी तक खुलासा नहीं हुवा हैं,जैसलमेर पुलिस की आईटी टीम मामले की छानबीन में लगी हुई हैं .

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जैसलमेर जयनारायण मीना ने बताया “महिलाओं के आपत्तिजनक फोटोज अपलोड करने का मामला आइटी एक्ट में दर्ज कर लिया गया है। संबंधित थानाधिकारी को मामले में कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया है। इस बारे में पुलिस छानबीन कर रही है।