jalore deo news

Jalore News: शिक्षा विभाग की महिला कर्मचारी ने जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारंभिक)-DEO Jalore प्रेमशंकर झा और समग्र शिक्षा विभाग के अति. जिला परियोजना समन्वयक (एडीपीसी) मोहनलाल पर प्रमाेशन के बदले अस्मत मांगने का आरोप लगाया है।

रिपाेर्ट में महिला ने कहा है कि वह समग्र शिक्षा अभियान में कार्यरत है। संबंध बनाने से इनकार करने पर डीईओ झा ने उसे निलंबित कर मुख्यालय भीनमाल कर दिया। महिला पुलिस थानाधिकारी निर्मल कंवर ने कहा है कि मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आराेपियाें की तलाश जारी है।

पीडिता ने बताया कि पिछले डेढ़ महीने से एडीपीसी मोहनलाल व डीईओ झा मानसिक व शारीरिक रूप से परेशान कर रहे हैं। करीब पंद्रह दिन पहले भी एडीपीसी और डीईओ दोनों डीईओ ऑफिस में थे ताे शाम करीब साढ़े पांच बजे अर्जेंट काम की बात कहकर वहां बुलाया और अश्लील हरकतें की।

उन्हाेंने कहा कि यदि शारीरिक संबंध बनाओगी ताे उसका रोका हुआ प्रमोशन कर देंगे, नहीं ताे सर्विस बुक खराब कर देंगे। बाद में उसने ये बात जोधपुर में रह रहे पति को बताई।

इसके बाद वह पति के साथ ऑफिस गई ताे दोनों अधिकारियों ने कहा कि वह लिखकर दे कि उसके साथ किसी प्रकार की अश्लील हरकत नहीं हुई, अन्यथा सर्विस बुक खराब करने और नौकरी नहीं करने देने की धमकी दी। इसके बाद 15 मई को निलंबित कर मुख्यालय भीनमाल कर दिया। 

इस बीच, दाेनाें आराेपी अफसराें ने आराेपाें काे झूठा बताया है। एडीसीपी माेहनलाल ने कहा कि 13 मई को महिला कर्मचारी व उसके पति ने कार्यालय में आकर राजकार्य बाधित किया और अभद्रता की। इस संबंध में पुलिस में भी केस दर्ज है। 


डीईओ झा ने कहा कि एडीपीसी ने महिला कर्मचारी को समय पर कार्यालय आने काे पाबंद किया तो महिला ने पति को बुला लिया और एडीपीसी को कमरे में बंद कर दिया। एडीपीसी की शिकायत पर महिला कर्मचारी काे निलंबित किया। शेष आरोप निराधार हैं।