#Jaipur News: राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत इन दिनों काफी आक्रामक मूड में है, उन्होंने इसी हफ्ते पीएम मोदी को नसीहत दी थी और सतीश पूनिया को नया नया मुल्ला बताया था. गहलोत ने इस बार इंदिरा गांधी के नाम पर पीएम को निशाने पे लिया है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि इंदिरा गांधी महान शख्सियत थी पूरे विश्व भर में उनका नाम था. इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान के दो टुकड़े कर दिए, बांग्लादेश बना दिया।

इंदिरा गांधी हरित क्रांति लेकर आई पहले हम लोग अमेरिका से गेहूं की भीख मांगते थे, नई पीढ़ी को यह चीजें मालूम नहीं है, 21 सूत्री प्रोग्राम इंदिरा ने दिया और मोदी कहते हैं कि 70 साल में क्या हुआ?

गहलोत मंगलवार को एकल नारी शक्ति संगठन की 20वीं वर्षगांठ पर यहां आदर्श नगर सेवा सदन में ‘बहिना दूज-जश्न बहिनचारे का कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद मीडिया से बात कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी  कहते थे कि इंदिरा दुर्गा का रूप थी। क्या प्रधानमंत्री के मुंह से 6 साल में एक बार भी इंदिरा का नाम निकला है क्या? 

वह एक महिला थी जिन्होंने महिलाओं का मान सम्मान पूरी दुनिया भर में बढ़ाया उनका नाम लेते हुए प्रधानमंत्री  को संकोच होता है इसका मतलब सच्चाई कहां है, सच्चाई उनके साथ नहीं है।

उन्होंने कहा कि चुनाव जीतना अलग बात है। राष्टï्रवाद की हवा बनाना अलग है। जैसे कि हम तो राष्ट्रवादी है ही नहीं, हमको इनसे सर्टिफिकेट लेना पड़ेगा। गहलोत ने दावा किया कि निकाय चुनाव में कांग्रेस की जीत होगी।

इससे पहले मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में कहा कि महिला अत्याचारों पर सरकार गंभीर है, ऐसे मामलों जांच के लिए हमने बड़ा फैसला किया है, डिप्टी एसपी स्तर का अफसर जांच करेगा। सीएम ने बाल विवाह को भी एक अभिशाप बताया।

कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश भी मौजूद रहीं। उन्होंने कहा कि एकल महिलाओं के कल्याण के लिए सरकार तत्पर है। सरकार ने कई कल्याणकारी योजनाएं चला रखी हैं, एकल महिलाओं के कल्याण के लिए योजनाओं में कोई कसर बाकी नहीं रखी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजीव गांधी ने संविधान में संशोधन करके पंचायतीराज और स्थानीय निकाय में महिलाओं को मजबूती दी। 

पहले सरपंच पति की एक नई ही पोस्ट अघोषित रूप से बन गई थी, सरपंच पति बैठकों में बैठ जाते थे। लेकिन अब स्थितियां बदल रही हैं। महिला को घूंघट में कैद करके नहीं रख सकते। 

सीएम  ने अपने संबोधन में कहा कि डायन प्रथा से महिलाएं पीडि़त होती हैं, डायन होती ही नहीं हैं। मैं तो खुद मैजिशियन हूं, जादू में कुछ जादू नहीं होता, केवल ट्रिक होती है, ट्रिक से ही लगता है कि जादू है।

अंग्रेजी हावी हो गई, हिंदी में प्रकाशित करवाए पुस्तक

मुख्यमंत्री  ने कार्यक्रम में एकल महिलाओं के संघर्ष पर आधारित पुस्तक बदलाव की मिसाल -एकल महिलाएं का विमोचन भी किया। उन्होंने यह भी कहा कि इस पुस्तक को हिंदी में भी प्रकाशित करवाइए, तभी सब समझ सकेंगे, अंग्रेजी से ही काम नहीं चलेगा, अंग्रेजी देश में ज्यादा ही हावी हो गई है।

Source:The Jaisalmer News