जैसलमेर – बैंकर्स की त्रैमासिक बैठक में वित्तीय प्रबन्धन की समीक्षा


बैंकर्स ग्रामीण विकास को गति दें और शत-प्रतिशत लक्ष्य पाएं – जिला कलक्टर

जिला कलेक्टर नमित मेहता ने बैंक अधिकारियों से कहा है कि वित्तीय वर्ष की अंतिम दो तिमाहियों में शत-प्रतिशत लक्ष्य प्राप्ति करते हुए जिले को अग्रणी स्थान दिलाने के लिए समर्पित प्रयासों में जुटने का आह्वान किया है।

जिला कलक्टर नमित मेहता ने शुक्रवार को जैसलमेर जिला कलक्ट्री सभा कक्ष में जिलास्तरीय समीक्षा समिति(डीएलआरसी) की बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह निर्देश दिए।

इसमें रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया के सहायक महाप्रबन्धक एवं जैसलमेर जिले के अग्रणी जिला अधिकारी दिनेश कुमार, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओम प्रकाश, नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक दिनेश प्रजापत, नीति आयोग के जिला समन्वयक गौरव द्विवेदी, समाज कल्याण विभाग के सहायक निदेशक हिम्मतसिंह कविया, जिला परियोजना प्रबंधक (एलआरएलएम) शम्भूदयाल कुमावत और फसल बीमा कंपनी के जिला समन्वयक सहित समस्त बैंकों के जिला समन्वयक एवं अधिकारी उपस्थित थे।

नाबार्ड द्वारा प्रकाशित पीएलपी पुस्तक का विमोचन

इस अवसर पर जिला कलक्टर ने नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक डॉ. दिनेश प्रजापत द्वारा प्रकाशित ‘संभाव्यतायुक्त ऋण योजना(पी.एल.पी.)’ पुस्तक का विमोचन किया।

बैंकिंग योजनाओं की समीक्षा

बैठक में बैंकों के माध्यम से चलाई जा रही सरकार की विभिन्न योजनाओं की प्रगति, जिले की वार्षिक साख योजना के अन्तर्गत उपलब्धियों एवं बैंकों के एनपीए एवं वसूली प्रबंधन की समीक्षा की गई।

समृद्ध जैसाण में बैंकिंग भागीदारी की सराहना, दी बधाई

जिले में बैंकों एवं जिला प्रशासन द्वारा चलाये जा रहे समृद्ध जैसाण अभियान के तहत चल रहे वित्तीय साक्षरता एवं वित्तीय समावेशन शिविरों की प्रगति की भी समीक्षा की गई।

जिला कलक्टर ने सभी बैंक अधिकारियों को वार्षिक साख योजना में दूसरी तिमाही तक प्राप्त लक्ष्य अर्जित करने पर सराहना की तथा वित्तीय वर्ष की शेष दो तिमाहियाेंं में आवंटित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए बेहतर प्रयास करने का आह्वान किया।

वसूली के लिए ठोस प्रयासों पर जोर

जिला कलक्टर मेहता ने सरकार प्रायोजित योजनाओं में एनपीए की वसूली के लिए बैंकों को वांछित सहयोग देने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया और बैंक अधिकारियों से भी कहा कि  रोडा एक्ट में वसूली के लिए राजस्व अधिकारियों के साथ संपर्क कर शाखा प्रबंधक अपने-अपने प्रकरणों का मिलान करें तथा पूर्ण वसूली से बंद हुए प्रकरणों की सूचना राजस्व अधिकारियों को देकर लंबित प्रकरणों को बंद करवाएंं। सरफेसी एक्ट के तहत दायर प्रकरणों पर वसूली की कार्यवाही समयबद्ध सीमा में करने के निर्देश दिये।

जिला कलेक्टर ने निर्देश दिये कि सभी बैंकर्स ‘समृद्ध जैसाण’ अभियान के तहत आयोजित वित्तीय साक्षरता समावेशन शिविरों में प्राप्त योजनाओं के फार्मों का सिस्टम में दर्ज करके आमजन को लाभान्वित करें।

उन्होंने जिले में समृद्ध जैसाण अभियान द्वारा वित्तीय साक्षरता शिविरों में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिये सभी बैंक अधिकारियों को बधाई दी एवं इसे और अधिक उत्साह के साथ प्रभावी ढंग से जारी रखने का आग्रह किया।

पात्रता अनुसार ऋणियों को करें लाभान्वित

जिला कलेक्टर ने बताया कि सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार जैसलमेर जिले में खरीफ फसल 2019 (संवत् 2036) में 672 गांवों को गम्भीर एवं मध्यम सूखाग्रस्त घोषित किया है। इसलिये सभी बैकर्स भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार बैंकों की कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए पात्रता अनुसार ऋणियों को लाभान्वित करें।

अग्रणी बैंक प्रबंधक रामजीलाल मीणा ने सभी बैंकर्स से ग्रामीण विकास के लक्ष्यों की प्राप्ति में सकारात्मक सहयोग का आह्वान करते हुए आश्वस्त किया कि जिले में वित्तीय संस्थाएं अपने वार्षिक साख योजना के लक्ष्यों को इस वर्ष के अन्त तक हासिल कर लेंगी।



Source:The Jaisalmer News