नकली घी का जखीरा पकड़ा,37 लाख जब्त,एक गिरफ्तार
Edited by News Desk


Jaipur News- ब्रह्मïपुरी थाना पुलिस ने रविवार को नकली घी का जखीरा पकड़कर भारी मात्रा में नकली खाद्य सामग्री के साथ व्यापार से अर्जित आय के 37 लाख रुपए जब्त किए है। पुलिस नकली घी बनाने वाले मुख्य आरोपी सहित दो को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है।

एडि. पुलिस कमिश्नर अशोक कुमार गुप्ता ने बताया कि नकली घी बनाने के मामले में मुख्य आरोपी मनीष खण्डेलवाल निवासी कैलाशपुरी कॉलोनी कागदीवाड़ा ब्रह्मïपुरी को गिरफ्तार किया गया है। मुखबिर से सूचना मिली कि मनीष  ने अपने घर पर नकली घी का कारखाना खोल रखा है। वहां नकली घी को अन्य ब्रांड के घी की पैकिंग कर बाजार में बेचान कर रहा है। सूचना पर पुलिस ने सुबह मकान पर दबिश दी। नकली घी का कारखाना मिलने पर मनीष को गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ कर नकली घी के व्यवसाय में जुड़े लोगों के बारे में जानकारी जुटा रही है। घर पर बना रखे कारखाने से पुलिस ने नकली घी के 15 किलोग्राम के 8 टीन, 20 बड़े कार्टन (आधा/एक किलोग्राम) के पैकेट भरे मिले। 26 पैकेट नकली घी और बटर एसेंस,नकली घी बनाने के उपकरण, नकली घी पैकिंग के लिए 151 रैपर, 28 डिब्बे, फेवीकॉल ट्यूब,15 किलोग्राम के खाली 17 टीन,ढक्कन, एगमार्क लगाने के 13 सैट पेपर जब्त किए गए। पुलिस ने नकली घी के व्यापार की आय से अर्जित किए करीब 37 लाख रुपए भी बरामद किए है।

बड़े स्तर पर चल रहे नकली घी के धंधे के लिए उसने गुर्जर घाटी में एक गोदाम भी किराए पर ले रखा था। गोदाम पर कार्रवाई कर वनस्पति तेल के 21 कार्टन कुल 372 लीटर वनस्पति तेल,मिर्ची, हल्दी के 18 कट्टे, जिनमें कुल 450 किलोग्राम नकली मिर्ची और हल्दी पाउडर भी मिला।

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वनस्पति घी को गर्म करके उसमें सोयाबीन  का तेल मिलाकर शुद्घ घी का एसेंस डालकर नकली देशी घी तैयार करता था। खाली टीन में डालकर उस पर ब्रांड के रैपर चिपकाता। पैकिंग किए माल को गोदाम में रखता था। मौका मिलते ही बाजार में नकली देशी घी को असली बनाकर बेच देता था। नकली घी के व्यापार के लिए उसने कार लगा रखी थी।