Jaipur News – मकर संक्रांति पर मंगलवार को जयपुर में जहां दिनभर लोगों ने जमकर पतंगबाजी और वो काटा-वो मारा का शोर गूंजता रहा। अंधेरा होने के साथ ही माहौल दीपावली सा बन गया और लोगों ने आतिशबाजी की। वहीं विशिंग लैम्प भी खास आकर्षण रहा। आतिशी नजारों ने भी शहर में उत्सवी सुरूर भर दिया।

शहर में अलसुबह धीमी की हवा के बीच भी लोगों में पतंगबाजी का उत्साह देखने को मिला। दोपहर होते-होते लोग छतों पर आने लगे और पतंगबाजी का शोर माहौल में गूंजने लगा। देखते-देखते पतंगों की परवाज के साथ-साथ मजा भी परवान चढऩे लगा।

अधिकतर लोगों ने पतंगबाजी के साथ लजीज पकवानों का आनंद लिया। दुनिया भर में लोकप्रिय जयपुर की पतंगबाजी का विदेशी पावणो ने लुत्फ  उठाया।
फिल्मी गानों का शोर जोरों पर दिखाई दिया। शहरभर की कॉलोनियों में  छतों पर हाई वॉल्ट के म्यूजिक सिस्टम बजते दिखाई दिए।

पतंग काटने और पतंग कटने पर दोनों हालत में वो काटा- वो माराके शोर से लोगों ने एन्जॉय  किया। बच्चों ने डोरेमोन, छोटा भीम, टोमेन्ड जेरी,बार्बी प्रिंसेज, मिक्की माउस की पतंगों को हवा दी।
पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह और भाजपा सांसद दीयाकुमारी आमेर रोड स्थित जलमहल की पाल पर पर्यटन विभाग की ओर से आयोजित अंतर्राष्ट्रीय पतंग उत्सव में पहुंचे।

Pमंत्री सिंह और सांसद ने पतंग उड़ाई। सभी से पतंगबाजी में चाइनीज मांझे का उपयोग नहीं करने की अपील की। इससे पहले पर्यटन मंत्री ने आसमान में गुब्बारे छोड़कर काइट फेस्टिवल का उद्घाटन किया। मंत्री ने कहा कि पर्यटन एक ऐसा क्षेत्र है, जिसमें सभी को पार्टियों की सीमा को समाप्त कर एकजुट होकर काम करना चाहिए। विभाग की तरफ  से नए सर्किट बनाए जा रहे हैं।  राज्य में आने वाले पर्यटकों के लिए नए स्थलों को शामिल किया जा रहा है।