The national animal of Pakistan is a goat name

नमस्कार पाठकों आज हम आपके लिए जो खबर लाये हैं वो आपको हैरान कर देगी,आपने कभी सोचा नहीं होगा कि पाकिस्तान का राष्ट्रीय पशु (National Animal)एक “बकरा’ होगा,जी हाँ भारत के राष्ट्रीय पशु बाघ को टक्कर देने के लिए पाकिस्तान ने एक बकरे “मारखोर” को अपना राष्ट्रीय पशु बना रखा हैं.

आंतकवादी गतिविधियों को समर्थन देकर पूरे विश्व में बदनाम हो चुके पाकिस्तान को ढंग का कोई पशु भी नहीं मिला ,भारत से हर जगह पिटने वाला पाकिस्तान कम से कम बंगाल टाइगर से खूंखार कोई जानवर तो मुकाबले में रखता,जैसे जैसे लोगो को ये पता चल रहा हैं कि पाकिस्तान का राष्ट्रीय पशु एक निरीह बकरा “मारखोर” हैं इसी कारण भारत में पाकिस्तान का मजाक बन रहा हैं .

आइयें आपको बताते हैं कि “मारखोर”  की विशेषता क्या क्या हैं

मारखोर बकरे पाकिस्तान के अलावा भारत , अफगानिस्तान, तजाकिस्तान और उज्बेकिस्तान में भी पाए जाते हैं. पर अंधाधुंध शिकार के कारण अब सिर्फ 2500 “मारखोर” बकरे बचे हैं. उनमे भी सबसे ज्यादा पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में चित्राल नेशनल पार्क में है.

” मारखोर ” बकरे के सींग करीब १.५ मीटर लंबे होते हैं ,ये बकरे पहाड़ो में रहते हैं और एकदम पहाड़ों पर चिपककर किसी पर्वतारोही की तरह चल सकते  है.

मारखोर का वजन करीब 100 किलो होता हैं और इसकी ऊंचाई करीब 110 सेमी तक होती हैं,ये पूर्णतया शाकाहारी होते हैं .

फ़ारसी भाषा में सांप को “मार” कहा जाता हैं और खोर यानी खाने वाला,मान्यता हैं कि मारखोर बकरे के मुंह से निकले झाग या फेन से सांप का जहर उतारा जा सकता हैं इसी वजह से इसका नाम मारखोर पड़ा .

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करना ना भूलें .