पाकिस्तान कंगाल हो गया
फोटो : यूट्यूब से साभार

वर्ल्ड न्यूज़ / वित्तीय संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को अमेरिका से कर्ज मिलने में मुश्किल हो रही हैं. अमेरिका ने सख्ती दिखाते हुवे कहा हैं कि पहले पाकिस्तान चीन और दुसरे देशो से लिए कर्ज का ब्यौरा पेश करें तभी पाकिस्तान को आर्थिक सहायता के लिए विचार किया जाएगा.

इमरान खान की नयी सरकार के लिए वित्तीय संकट से निपटना बड़ी चुनौती हैं, अमेरिका ने कहा हैं कि चीन से लिया गया बेहिसाब कर्ज पाकिस्तान की दुर्दशा के लिए जिम्मेवार है.

पाकिस्तान अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से कर्ज लेने की योजना बना रहा है. इसके साथ ही उसका कर्ज 6 अरब डॉलर से बढ़कर 12 अरब डॉलर से भी ज्यादा हो जाएगा.हालत ये है कि पाकिस्तान को ब्याज चुकाने के लिए भी कर्ज लेना पड़ रहा हैं.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा रक्षा सहयोग में कटौती से भी पाकिस्तान आर्मी परेशान है, पाकिस्तान बेहद ख़राब आर्थिक हालत से गुजर रहा है और इस समय इकनॉमी को पटरी पर लाने का कोई पुख्ता रास्ता नहीं दिख रहा है.

पाकिस्तान के वित्त मंत्री असद उमर ने अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) से पाकिस्तान को कर्जे के पैकेज की किस्त देने का अनुरोध किया हैं.पाकिस्तान, चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) से संबंधित कर्ज के विवरण को आईएमएफ के साथ साझा करने को तैयार है.

पाकिस्तान के वित्त मंत्री असद उमर ने अमेरिका के उस बयान को खरिज किया जिसमें अमेरिका ने कहा था कि पाकिस्तान की हालिया खराब आर्थिक हालत चीन से लिए गए कर्ज की वजह से हुई है.

अमेरिका के राज्य विभाग के प्रवक्ता हीदर नऊर्ट ने कहा कि पाकिस्तान ने आईएमएफ से सहायता के लिए कहा है. हम किसी भी तरह के कर्ज देने के पहले पाकिस्तान की कर्ज की स्थिति की बारीकी से जांच करेंगे.

पिछले महीने अमेरिका के मंत्री माइक पोंपियो ने कहा था कि आज पाकिस्तान की जो हालत है उसके लिए चीन से लिया गया कर्ज जिम्मेदार है.

चीन की और से जारी बयान में कहा हैं कि चीन ने कभी भी पाकिस्तान पर कर्जा लेने के लिए दबाव नहीं बनाया हैं.