कुम्भ सिंह पातावत फलौदी से कांग्रेस प्रत्याशी हो सकते हैं

फलौदी /जोधपुर (आवडदान सिंह साकडिया )| फलौदी विधानसभा क्षेत्र में चुनावी गर्मी चरम पर पहुँच चुकी हैं, सभी नेता अपना अपना भाग्य आजमाने टिकट की दौड़ में भागीदारी जता रहे हैं मगर फलौदी विधानसभा सीट से टिकट लेना कोई आसान काम नहीं क्यूंकि इस क्षेत्र में मुस्लिम व ब्राह्मण वोटो का बाहुल्य रहा है.

फलौदी विधानसभा सीट के लिए बीजेपी से वर्तमान विधायक पब्बाराम बिश्नोई का टिकट लगभग तय माना जा रहा हैं वंही कांग्रेस के लिए कशमकश जारी हैं.यंहा से कांग्रेस की टिकट के लिए ओम जोशी,प्रकाश छंगाणी प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं वंही एक नया नाम कूम्भ सिंह पातावत के रूप में आ रहा हैं.

कुम्भ सिंह पातावत के समर्थक पूरी उम्मीद लगाये हैं कि इस बार फलौदी से कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में कूम्भ सिंह पातावत के नाम पर मुहर लगेगी. सूत्रों के अनुसार पिछले दिनों कई पार्टियों और संगठनों द्वारा सर्वे केम्पेन भी हुए जिसमें भी पातावत की मांग अव्वल रही,इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी कूम्भ सिंह पातावत पिछले 4 साल से अपनी दमदार शख्सियत की बदौलत छाये हुए हैं.

वर्तमान स्थिति में जोधपुर जिले की दस विधानसभा-फलोदी, लोहावट, ओसियां, शेरगढ़, जोधपुर, सूरसागर, सरदारपुरा, बिलाड़ा, भोपालगढ़ और लूणी सीट में 9 पर बीजेपी का कब्जा है. जबकि सरदारपुरा विधानसभा सीट से पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विधायक हैं.

कूम्भ सिंह पातावत अपनी ग्राम पंचायत से दो बार सरपंच रह चुके हैं, एक एक बार पंचायत समिति सदस्य और जिला परिषद के सदस्य रह चुके हैं और दो बार प्रधान का चुनाव भी लड़ चुके हैं. इसी के साथ पिछले 4 साल से फलौदी में लगातार अगर विपक्ष की भूमिका भी बेहतरीन तरीके से निभाई हैं.

पातावत के ही कार्यकर्ता रविराज सिंह भाटी ने जयपुर न्यूज़ टुडे को बताया कि  बाप हॉस्पिटल में महीनों से डॉक्टर की कमी के चलते कईं मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ता था,महिलाओं को प्रसव के लिए भी 200 km का सफर तय करना पड़ता था तो पातावत ने दो दिन धरना देकर नये डॉक्टर लगवाए.विपक्ष की भूमिका निभाते हुए पंडित दीनदयाल विधुत योजना में हुई धांधली के खिलाफ तहसील मुख्यालय पर हजारों की संख्या में प्रदर्शन किया.

कूम्भ सिंह पातावत ने सड़क और पानी सम्बंधित कई प्रदर्शन और आंदोलन किये जिससे आमजन को काफी राहत मिली, उन्होंने भड़ला में सोलर कम्पनियों द्वारा किसानों पर किये जा रहे अत्याचार के विरुद्ध आवाज बुलंद कर कई किसानों को मुआवजा भी दिलवाया.

रविराज सिंह भाटी पातावत की उपलब्धियां गिनाते हुवे आगे कहते हैं कि बारू ग्राम पंचायत के किसानों का 2 साल का मुआवजा जो कि 27000 रूपये प्रत्येक किसांन का हक था पातावत ने तहसील मुख्यालय के आगे प्रदर्शन कर 3 दिन में सभी वंचितों को मुआवजा दिलवाया.कई सालों से चली आ रही फलौदी को जिला बनाने की मांग जो कि पूर्व विधायक लालजी थानवी का सपना बन कर रह गया था उस मुद्दे पर हुंकार भरी और बीते दिनों जिला बनाने की मांग को लेकर विशाल जन आंदोलन किया जिसमें क्षेत्र के करीब 35 हजार लोग इक्कठा हुए जिससे ये साबित हो गया कि वे अब आमजन की आवाज बन चुके हैं.पातावत के द्वारा ऐसे कई कार्य किये गए जो सत्ता में रहते हुए विधायक या मंत्री ही करवा सकते हैं परंतु बगैर सत्ता में रहकर ऐसे काम करवाना अपने आप में एक मिशाल हैं.

अब देखना ये हैं कि कांग्रेस पार्टी नये उम्मीदवार पर दांव लगाती हैं या परंपरागत रूप से प्रतिद्वंदी ओम जोशी व पब्बाराम बिश्नोई तीसरी बार भिड़ेंगे.साल 2008 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के ओम जोशी ने बीजेपी के पब्बाराम विश्नोई को 6902 वोटों से शिकस्त दी थी वंही साल 2013 के विधानसभा चुनाव में फलोदी सीट पर बीजेपी के पब्बाराम विश्नोई ने कांग्रेस विधायक ओम प्रकाश जोशी को 34171 वोटों से हराया.

फलोदी विधानसभा क्षेत्र संख्या 122 की बात करें तो यह सामान्य सीट है. 2011 की जनगणना के अनुसार यहां की जनसंख्या 361572 है जिसका 86.2 प्रतिशत हिस्सा ग्रामीण और 13.8 प्रतिशत हिस्सा शहरी है. वहीं कुल आबादी का 17.34 फीसदी अनुसूचित जाति और 3.21 फीसदी अनुसूचित जनजाति हैं. 2017 की वोटर लिस्ट के अनुसार इस सीट पर मतदाताओं की संख्या 218433 है और 236 पोलिंग बूथ हैं. 2013 के विधानसभा चुनाव में फलोदी में 73.39 फीसदी वोटिंग हुई थी.