लोगो से डरने लगे नेता जी

जयपुर:- राजस्थान विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही नेताओ को डर लगने लगा है। अपने इसी डर की वजह से वो निजी सुरक्षा कंपनियों से पहलवानो को किराए पे ले रहे है।

निजी सुरक्षा कंपनियों के बाउंसर या देशी भाषा मे कहे तो मुस्टंडे किराये पे रखने से जँहा नेताजी का रौब भी अच्छा जमता है वंही किसी कार्यक्रम में नाराज जनता से पिटने पिटाने का डर भी खत्म हो जाता है।

बाउंसर और गनमैन रखने के लिए राजस्थान के नेता बड़ी कीमत भी चुका रहे है। निजी सुरक्षा एजेंसियां बाउंसर के एक हजार से पंद्रह सौ तक तथा गनमैन के ढाई से तीन हजार रुपये प्रतिदिन तक वसूल रही है।

अभी कुछ दिनों पहले बाड़मेर में कर्नल सोनाराम की कुछ युवकों के साथ हुई झड़प के बाद गनमैन ने फायर कर हमलावरों को डराया था।

पैट्रॅन डिटेक्टिव एंड आर्म्ड सिक्योरिटी गार्ड कंपनी प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक राजकुमार कुमावत ने मीडिया को बताया कि खींवसर से निर्दलीय विधायक और जाट नेता हनुमान बेनीवाल ने अपनी सुरक्षा के लिये बांउसर, गनमैन और सिक्योरिटी गार्ड की मांग की है.
Embed from Getty Images

जयपुर,झुंझनु,सीकर तथा नागौर जिले के नेता निजी कंपनियों के सुरक्षा गार्ड की डिमांड ज्यादा कर रहे है।

आखिर क्या कारण है कि जो नेता खुद को आम आदमी का हितैषी और 36 कौम की अगुवाई करने वाला बताते है उसी जनता के बीच सीधे जाने से डरते है।

अपने भाषणों में जातिवाद का जहर घोलने के बाद नेताओं को वोट मिले या ना मिले पर मन का डर जरूर मिल जाता है कि पता नहीं कंहा कब कोई सिरफिरा चप्पल फेंक दे या जूते मार दे।