rahul gandhi pokran rally
           

जैसलमेर के पोकरण में आयोजित कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की जनसभा ने कांग्रेस के मंसूबो पे पानी फेर दिया हैं. चार विधानसभाओ को लेकर कांग्रेस ने ये जनसभा पोकरण में आयोजित की थी जिसमें अशोक गहलोत और सचिन पायलट भी शामिल हुवे.अपने भाषण में भी राहुल गांधी ने ऐसे मुद्दे उठाये जो यंहा की जनता से जुड़े नहीं थे. वो राफेल,खान घोटाला और नीरव मोदी की बात करते रहे पर जैसलमेर जिले की स्थानीय समस्याओं के बारे में कुछ विशेष नहीं कह पाए.

फलोदी,शेरगढ़,पोकरण और जैसलमेर से कांग्रेस प्रत्याशियों के समर्थन में पोकरण में राहुल गांधी की सभा का आयोजन किया गया था. कांग्रेस को उम्मीद थी कि चारों विधानसभाओं से करीब ढाई लाख लोग इस सभा में पहुंचेंगे मगर पूरा जोर लगाने के बाद भी पचास हजार से ज्यादा लोग नहीं आये.हालांकि कांग्रेस कार्यकर्ताओं में राहुल गांधी को देखकर और सुनकर थोडा जोश जरुर आया हैं.

वंही दूसरी और भाजपा और संघ की रणनीति कामयाब रही उन्होंने मात्र पोकरण और जैसलमेर विधानसभा से ही करीब सत्तर हजार लोगो को योगी आदित्यनाथ की जनसभा में बुलाकर बाजी मार ली. स्थानीय पत्रकारों से मिली रिपोर्ट्स के आधार पर ये कहा जा रहा हैं कि जैसलमेर और पोकरण दोनों सीटों पर बीजेपी की रणनीति आक्रामक हैं वंही कांग्रेस सिर्फ बचाव की मुद्रा में हैं.यंहा बीजेपी ने हिंदुत्व का कार्ड खेला हैं जबकि कांग्रेस मुस्लिम -मेघवाल गठबंधन के सहारे अपनी नैया पार लगाने की कोशिश में हैं.

ये भी पढ़ें :