Rajasthan unemployment allowance, berojgari bhatta 2019,

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शिक्षित बेरोजगार युवाओं के हित में बड़ा निर्णय लेते हुए बेरोजगारी भत्ता करीब पांच गुना बढ़ाते हुए 3000 और 3500 रूपए प्रतिमाह करने की घोषणा की है। गहलोत ने गुरूवार को राजस्थान विश्वविद्यालय के केंद्रीय छात्रसंघ कार्यालय के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए बेरोजगारों को यह सौगात दी। बेरोजगारी भत्ते की बढ़ी हुई दरें 1 फरवरी, 2019 से लागू होंगी एवं नवीन दरों पर भुगतान एक मार्च से शुरू हो जाएगा।

कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में बेरोजगारी भत्ता बढ़ाने का वादा किया था, अशोक गहलोत ने ट्वीट कर इसकी घोषणा भी की हैं.

एक लाख शिक्षित बेरोजगार होंगे लाभान्वित, 524 करोड़ व्यय करेगी सरकार

राज्य सरकार के इस निर्णय से प्रदेश के करीब एक लाख शिक्षित बेरोजगार युवा लाभान्वित होंगे, जबकि वर्तमान में इस योजना में 70 हजार युवाओं को लाभ मिल रहा है। इस महत्वाकांक्षी घोषणा की क्रियान्विति के लिए राज्य सरकार प्रतिवर्ष 524 करोड़ रुपए व्यय करेगी। 

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने जन घोषणा-पत्र को कैबिनेट की पहली ही बैठक में नीतिगत दस्तावेज का रूप प्रदान किया था। घोषणा पत्र में बेरोजगारी भत्ते को 3500 रुपए तक बढ़ाने का वादा किया था। 

मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार अक्षत योजना (राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना, 2012) के तहत 2 लाख रुपए तक की पारिवारिक वार्षिक आय वाले स्नातक पुरुष बेरोजगारों  को अब 3000 रुपए एवं महिला तथा विशेष योग्यजन बेरोजगारों को 3500 रूपए प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता मिलेगा।

अक्षत योजना के तहत अभी प्रदेश में बेरोजगार पुरुषों को 650 रुपए एवं महिला तथा विशेष योग्यजन बेरोजगारों को 750 रुपए बेरोजगारी भत्ता मिल रहा है।