जैसलमेर/नाचना (दिलीप सोनी) | नाचना उपनिवेशन तहसील में बीजेपी कार्यकाल के दौरान हुवे चालीस हजार बीघा जमीन के घोटाले पर राजस्थान सरकार के मंत्री सालेह मोहम्मद ने गेंद एसीबी के पाले में फेंक दी है। उन्होंने कहा है कि जब तक एसीबी की रिपोर्ट नहीं आती तब तक वो इस बारे में कुछ नहीं कहेंगे।

दरअसल सालेह मोहम्मद के भाई पूर्व जिला प्रमुख अब्दुला फ़क़ीर ने पूर्व विधायक शैतान सिंह के कार्यकाल में टीपी के माध्यम से फर्जी डिग्रियों से चालीस हजार बीघा जमीन के घोटाले का आरोप लगाया था।

बाद में Etv राजस्थान पर सबूतों के साथ प्रमुखता से खबर चलाई गयी थी। जिस पर कार्यवाही करते हुवे ACB ने केस दर्ज कर 234 फैसलो के कागजात अपने कब्जे में लिए थे।

मामले में शामिल तत्कालीन नाचना उपनिवेशन उपायुक्त अरुण प्रकाश शर्मा और उनके निजी सहायक सुवालाल को निलंबित कर दिया गया था। दोनो अभी तक फरार है और एसीबी ने भी मामला ठंडे बस्ते में डाल दिया है।

पत्रकारों से बात करते हुवे मंत्री सालेह मोहम्मद ने कहा कि उन्होंने नाचना में जो सभा की थी वो सिंचाई के पानी के लिए की था ना कि जमीन घोटाले के मामले को लेकर।

उन्होंने कहा कि पोकरण और जैसलमेर क्षेत्र के विकास के लिए प्रभारी मंत्री बी.ड़ी.कल्ला से विशेष निवेदन करेंगे।

राजस्थान सरकार के अल्पसंख्यक मामलात और जनअभियोग निराकरण मंत्री सालेह मोहम्मद ने आज नाचना में जनसुनवाई का कार्यक्रम रखा था।

उन्होंने संबंधित अधिकारियों से जनता के कामों को समय पर पूरा करने को कहा और विशेष रूप से पेयजल और सिंचाई के पानी की समस्या का गंभीरता से निवारण करने को कहा।

For Latest News: Go to Home Page

Like Our Facebook Page: Like Facebook Page

Follow Us On Twitter: Follow @Twitter

Read Also: National Dunia And Hello Rajasthan