jnvu college


जयपुर, 29 जनवरी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने युवाओं का आह्वान किया कि वे जीवन में रचनात्मकता के साथ अपने व्यक्तित्व का विकास करें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक छात्र को प्रदेश, देश एवं समाज की स्थि्तियों पर चिंतन करते हुए आगे बढ़ना चाहिए। गहलोत मंगलवार को जोधपुर में जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय के केन्द्रीय छात्रसंघ कार्यालय के उद्घाटन समारोह में छात्र-छात्राओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने छात्रसंघ कार्यालय के उद्घाटन के बाद संघ के पदाधिकारियों को शपथ दिलाई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज युवाओं की तरक्की और उनके लिए रोजगार की चुनौती हमारे सामने है। उसे सब के सहयोग से ही हल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि नौजवानों की तरक्की और उनके बीच जाने में मुझे खुशी होती है। उन्होंने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने 18 वर्ष के युवाओं को मताधिकार देने और आई.टी. सेक्टर को बढ़ावा देने का काम किया। इसी के चलते आज दुनियाभर में हमारे युवा आईटी के क्षेत्र में छाए हुए हैं। 

गहलोत ने कहा कि देश की तरक्की के अनेक उदाहरण दुनिया के सामने हैं। आज भारत में लोकतंत्र कायम है और हमारा मुल्क अखंडता एवं एकता की मिसाल है। उन्होंने अपने जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय के छात्र जीवन से लेकर तीन बार मुख्यमंत्री बनने तक के सफर को भी याद किया।

गहलोत ने बताया कि राज्य सरकार प्रदेश की भलाई के लिए अपने हर वादे पर खरा उतरने के मार्ग पर चल रही है। उन्होंने कहा कि किसानों की कर्ज माफी का फैसला लागू कर दिया गया है। राज्य के विभिन्न विश्वविद्यालयों की वित्तीय स्थिति को सुधारने के लिए भी प्रयास किए जाएंगे। 

कृषि मंत्री एवं जिला प्रभारी मंत्री लालचंद कटारिया ने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत का जीवन सादगी की मिसाल है तथा हर छात्र उनके विद्यार्थी जीवन से मुख्यमंत्री बनने तक के सफर से प्रेरणा ले सकता है।

राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने कहा कि गहलोत हमेशा युवाओं और छात्र-छात्राओं को प्राथमिकता देते हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस विश्वविद्यालय के विकास में कोई कोर कसर नहीं छोडे़गीे, जिससे यह विश्व के कैनवास पर अपना अहम स्थान बना सके। 

विश्वविद्यालय के कुलपति गुलाबसिंह चौहान ने अपने स्वागत भाषण में विश्वविद्यालय की कमजोर वित्तीय स्थिति की चर्चा की और राज्य सरकार से सहयोग की मांग की। विश्वविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष सुनील चौधरी तथा शिक्षक संघ के अध्यक्ष चैनाराम चौधरी ने भी विचार व्यक्त किए। 

समारोह में उप मुख्य सचेतक महेन्द्र चौधरी, आयुर्वेद विश्वविद्य़ालय के कुलपति राधेश्याम शर्मा, विधायक मनीषा पंवार, महेन्द्र विश्नोई, किशनाराम विश्नोई, हीराराम मेघवाल, पूर्व मंत्री महादेव सिंह खंडेला, जेडीए पूर्व चेयरमैन राजेन्द्र सोलंकी, राजसीको के पूर्व चेयरमैन सुनील परिहार, पुष्पेन्द्र भारद्वाज एवं बड़ी संख्या में शिक्षक, छात्र-छात्राएं तथा गणमान्य जन उपस्थित थे।