Suspected of being man-eating on tiger T64
डेमो चित्र -विकिपीडिया

जयपुर, 02 फरवरी। सवाई माधोपुर में रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान के कुंडेरा रेंज में बाघ के हमले में एक महिला की मौत हो गई है। रणथम्भौर में बाघ के हमले में महिला की मौत की ये दूसरी घटना है। हाल ही राजबाग वन क्षेत्र में भी बाघ के हमले में महिला की मौत हो गई थी। बताया जा रहा है कि महिला जंगल में शौच करने गई थी। तभी बाघ ने महिला पर हमला कर दिया।

घटना का पता लगते ही मौके पर ग्रामीणों ने हंगामा कर दिया और मुआवजे की मांग करने लगे। सूचना पर पुलिस प्रशासन सहित डीएफओ मुकेश सैनी, एसीएफ संजीव शर्मा आदि वन अधिकारी भी मौके पर पहुंचे।

जानकारी के अनुसार कुंडेरा के पास पालड़ी गांव में सुबह 5:30 बजे के आसपास मुन्नी देवी पत्नी रमेश योगी शौच के लिए जंगल की ओर गई थी। तभी जंगली जानवर द्वारा उस पर हमला हुआ।

हाल ही में रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान के राजबाग वन क्षेत्र में भी बाघ ने एक महिला पर हमला कर उसकी जान ले ली थी। बाघ महिला को घसीटता हुआ काफी दूर तक झाडिय़ों में ले गया। उसने पहले गर्दन को दांतों से दबाकर मोड़ दिया। बाद में उसके शरीर के पीछे का काफी हिस्सा खा भी लिया। मुंह भी बुरी तरह नोंच रखा था। मृतक महिला नौरथी (62) पत्नी रामप्रसाद महावर निवासी कोली मोहल्ला ब्रह्मपुरी शहर सवाईमाधोपुर थी।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रणथम्भौर बाघ परियोजना के पालड़ी मोड गांव में शनिवार को हुए बाघ के हमले की शिकार कुंडेरा निवासी महिला स्व. मुन्नी देवी के परिजनों को वन विभाग के नियमों के तहत 4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने के आदेश के साथ ही मुख्यमंत्री सहायता कोष से एक लाख रुपये की अतिरिक्त आर्थिक सहायता स्वीकृत की है। 

गहलोत ने इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर अफसोस व्यक्त करते हुए मृतका के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है।इसी के साथ गहलोत ने बीते साल दिसम्बर माह में रणथंभौर में ही बाघ के हमले की शिकार हुई एक अन्य महिला नौरथी कोली के परिजनों को भी मुख्यमंत्री सहायता कोष से एक लाख रुपए की अतिरिक्त सहायता स्वीकृत की है।