Why did Pratap Puri Ji decide to contest elections from Pokaran?
           

जैसलमेर.पोकरण | पोकरण विधानसभा से बीजेपी के प्रत्याशी प्रतापपुरी जी महाराज ने अपने चुनाव लड़ने का कारण स्पष्ट किया हैं उनके ऑफिसियल फेसबुक पेज श्री श्री 1008 महन्त श्री प्रतापपुरी जी महाराज पर उन्होंने सभी प्रश्नों का उत्तर दिया हैं. यंहा पर प्रतापपुरी महाराज की पोस्ट को बिना किसी एडिटिंग के पोस्ट किया गया हैं.

पोकरण के मेरे प्यारे भाइयों और बहनों, युवा साथियों!

भारतीय जनता पार्टी द्वारा मुझे आप सबके प्यार एवं समर्थन के कारण पोकरण से प्रत्याशी घोषित किया गया।मेरी उम्मीदवारी के बाद से प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से मेरे सैकड़ों समर्थकों, कार्यकर्ताओं और शुभचिंतको द्वारा मुझसे यह सर्वाधिक बार पूछा गया सवाल है कि आपने एक संत या महंत होने के बावजूद राजनीति में आना और चुनाव लड़ने का फैसला क्यों किया?

तो साथियों मैं आज आप सबको इस सवाल का पूरी ईमानदारी एवं निष्पक्षता से जवाब देना चाहता हूँ।

साथियों मैं सवाल का जवाब देने से पहले यह साफ कर देना चाहता हूं कि मुझे किसी भी पद, पैसे और प्रतिष्ठा की कोई चाहना नहीं है क्योंकि एक संत या महंत होने के नाते यह मुझे पहले से ही हासिल है।तो फिर आप पूछना चाहेंगें कि वह कौनसा कारण है जिसने आपको अचानक राजनीति में आने और चुनाव लड़ने को प्रेरित किया?

साथियों, आप सब जानते है कि आज हमारी राजनीति और हमारे भाग्यविधाता (राजनेताओं) में सेवा और समर्पण का अभाव होता जा रहा है। राजनीति का अर्थ केवल और केवल भोग तक सीमित होता जा रहा है।

बन्धुओं, यह चिंतन और ये परिस्थितियां हमारे देश, धर्म, समाज, संस्कृति और मानवता के लिए किसी भी सूरत में शुभ संकेत नहीं है। हमें समय रहते इस गंदगी और प्रदूषण से निपटना होगा नहीं तो ये सुअवसर हमारे हाथ से निकल जाएगा और हम केवल हाथ मलते ही रह जायेंगे।

प्यारे भाइयों और बहनों आप सब अच्छी तरह जानते है कि हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने देश और दुनिया के सामने आज एक राजनेता से ज्यादा प्रधानसेवक के रूप में ख्याति अर्जित की है। ऐसा शख्स जो देश के सर्वोच्च पद पर होने के बावजूद 18 घण्टे काम करता है और जिसने पूरी दुनिया में भारत का सिर स्वाभिमान से ऊंचा किया है।

और इसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने तो जैसे हमारी उम्मीदों को पंख ही लगा दिए हैं। ऐसा लग रहा है जैसे हम सोने की चिड़िया वाला आर्थिक महाशक्ति का सपना और विश्वगुरु के रूप में ज्ञानशक्ति वाला सपना भी जल्द ही पूरा करने वाले है।

लेकिन प्यारे बन्धुओं, आप सब जानते है कि यह सब इतना आसान नहीं है। केवल देश ही पूरी दुनिया की सभी भारत विरोधी एवं हिन्दु विरोधी आसुरी शक्तियां हमें रोकने और कुचलने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक रही है।

साथियों, आप सब जानते है कि पोकरण परमाणु परीक्षण की धरती है, जहां से पूरी दुनिया ने भारत की बढ़ती ताकत का अहसास किया था। लेकिन अबकी बार इस पवित्र नगरी से 7 दिसंबर को महापरिक्षण होने जा रहा है। जिसमें हम सब पोकरण वासियों को फर्स्ट डिवीजन से पास होना है।

रही बात संत या महंत होने के बावजूद राजनीति में आने का तो आपको बता दूं कि राष्ट्र चिंतन और मानव कल्याण की भावना मेरे खून के कतरे-कतरे में है। राजनीति में उतरने का फैसला मेरा निजी फैसला नहीं है और न ही किसी पद, पैसे और प्रतिष्ठा की चाहना है। देश का गौरव बढ़ाने, संत समाज के आग्रह और आप सबके प्यार को देखते हुए ये फैसला लिया है। जिसे आप सबको अंजाम तक पहुंचाना है।

पूरे प्रदेश की सभी 200 सीटों में से सबसे ज्यादा चर्चित एवं हॉटसीट हमारी पोकरण विधानसभा है जिस पर केवल राजस्थान ही नहीं पूरे देश की निगाहें टिकी है और सभी 200 सीटों में से भगवाधारी साधु को केवल एक ही सीट मिली है अतः हम पोकरण वासियों पर दोहरी जिम्मेदारी है और हमें तन-मन-धन से पूरी ताकत लगाकर शीर्ष नेतृत्व के इस फैसले को सही साबित करते हुए 11 दिसंबर को पोकरण में एक और इतिहास बनाना है।
आप सबको बहुत-बहुत धन्यवाद आशीर्वाद और साथ में कठोर मेहनत का आग्रह भी….
#मिशन_2018 #पोकरण_विधानसभा

आपका अपना
स्वामी #प्रतापपुरी
#पोकरण भाजपा प्रत्याशी

ये भी पढ़ें :