रघुवीर शर्मा @ छत्तरगढ़/बीकानेर | बीकानेर लोकसभा सीट के लिए बीजेपी की तरफ से अर्जुनराम मेघवाल तीसरी बार चुनाव लड़ने जा रहे है। कांग्रेस को उन्हें हैट्रिक से रोकना बड़ी चुनौती है।

बीजेपी की पहली लिस्ट में ही गुरुवार को अर्जुनराम मेघवाल के नाम की घोषणा बीकानेर लोकसभा सीट के लिए हो गयी है। हालांकि इस बात को लेकर पार्टी के दिग्गज देवीसिंह भाटी नाराज है। देवीसिंह भाटी अर्जुनराम मेघवाल को ‘जयचंद’ बता रहे है।

वंही कांग्रेस की तरफ से अर्जुन मेघवाल को टक्कर देने के लिए इस बार महिला प्रत्याशी हो सकती हैं।

बीकानेर लोकसभा से कांग्रेस से टिकट के लिये प्रीति मेघवाल का नाम उभर कर सामने आया है, प्रीति मेघवाल बीकानेर अफसर शाही का एक नामचीन चेहरा है।

शिक्षा विभाग की निदेशक प्रीति मेघवाल ने बातचीत में मरु समीक्षा के सहसंपादक रघुवीर शर्मा से बातचीत में बताया कि गरीबो और किसानों के जीवनस्तर में सुधार व परेशानियो को समझते हुए राजनीति में आकर जनता की सेवा करना चाहती हैं।

प्रीति मेघवाल के अनुसार किसानों को पूरा पानी मिले, किसानों की फसलों का पूरा दाम मिले हर गरीब का अपना मकान हो ये उनका सपना है,उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस बीकानेर लोकसभा से उनको टिकट देती है तो वो ईमानदारी से जनता की सेवा करने को आतुर है।

राजनीति में अनुभव के सवाल पर उन्होंने बताया कि जनता के लिये मन मे टीस होनी चाहिये जनता के लिये सेवा की भावना रखना ही सही मायने में सच्ची मानवता व राजनीति का आधार होना चाहिए।

बीकानेर लोकसभा से जहां कांग्रेस नए चेहरों पर दाव खेलती नजर आ रही है। वहीं शिक्षा क्षेत्र के बीकानेर सहायक निदेशक के पद पर प्रीति मेघवाल ने भी कांग्रेस टिकट के लिए अपनी उम्मीदवारी जता दी है। इस बार सशक्त उम्मीदवार को लेकर कांग्रेस का कई दिनों से मंथन चल रहा है।

प्रीति मेघवाल जो एमए इंग्लिश तथा एमए फिल भी है तथा वर्तमान समय में पीएचडी भी कर रही है। शिक्षा के क्षेत्र में सहायक निदेशक होने पर बीकानेर जिले में अच्छी पकड़ मानी जा रही है।

इनके पति रामसिंह जो आईजीएनपी नहर के विजयनगर व छतरगढ के जल संसाधन खंड के अधीक्षण अभियंता भी हैं। जिसके कारण अनूपगढ़ खाजूवाला विधानसभा का इलाका भी इनके अंतर्गत आता है। सिंचाई पानी की मांग को लेकर यह इलाका हमेशा चर्चा में रहा है रामसिंह की पिछले कई सालों से इस क्षेत्र में रहने के कारण किसानों के बीच अच्छी पकड़ मानी जा रही है।

वैसे नहरी व शिक्षा क्षेत्र से जुड़े होने के कारण प्रीति मेघवाल एक मजबूत दावेदार के रूप में उभर कर सामने आई है। 7 मार्च को जब बॉर्डर एरिया पर राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत खाजूवाला दौरे पर थे उस दौरान प्रीति मेघवाल भी इसी दौरे के दौरान सीएम की आवभगत में मौजूद थी।

उन्होंने अपने बायोडाटा भी सीएम गहलोत को जयपुर में एक मुलाकात के दौरान सौपे थे। पिछले 4 दिनों से लगातार दिल्ली में डेरा जमाए बैठी प्रीति मेघवाल का कहना है कि पार्टी अगर टिकट देती है तो उन्हें विश्वास है कि वो बीकानेर लोकसभा से कांग्रेस की टिकट जीतकर बीकानेर की जनता की सेवा करेगी ।

वही कांग्रेस इस बार भाजपा की हैट्रिक रोकने के लिए नये उम्मीदवार की तलाश में जुटी हूई है। बिना किसी गुटबाजी के अगर प्रीति मेघवाल को बीकानेर लोकसभा से कांग्रेस की टिकट मिलती है तो इस बार बीकानेर की राजनीति में बड़ा परिवर्तन भी देखा जा सकता है।