Nagaur News: नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने दिल्ली की दो युवतियों से सामूहिक बलात्कार मामले को लेकर राजस्थान सरकार पर सवाल खड़े किये है। उन्होंने सीएम अशोक गहलोत को इसबारे में एक पत्र भी लिखा है।

हनुमान बेनीवाल ने पत्र में लिखा है कि

hanuman beniwal letter to ashok gehlot

#नागौर: गैंगरेप का मामले में नागौर के एससी एसटी सेल के डिप्टी एसपी ने दर्ज नहीं की एफआईआर, जांच कराकर दोषी पुलिस अधिकारी के ख़िलाफ़ करें कार्रवाई” उन्होंने नागौर पुलिस पर संवेदनहीनता का आरोप भी लगाया है।

हनुमान बेनीवाल ने सीएम अशोक गहलोत से प्रश्न किया है कि :

श्रीमान अशोक गहलोत जी एक बार फिर आपकी पुलिस ने #नागौर में गेंग रैप जैसे प्रकरण में FIR दर्ज करने में लापरवाही बरती है, क्या आप जिम्मेदार Dy.SP पर कार्यवाही करेंगे ? या फिर लीपापोती करके मामले को दबा दिया जायेगा

हनुमान बेनीवाल ने अपने पत्र में लिखा है कि दिल्ली की दो युवतियों के साथ नागौर के कुछ लोगो ने सामूहिक दुष्कर्म किया,दुष्कर्म होने के बावजूद उनकी रपट नही ली गयी।

बाद में उन युवतियों ने दिल्ली जाकर ऑनलाइन एफआईआर करवाई। इस प्रकार पुलिस के अधिकारियों की हठधर्मिता से जिस समय मामला दर्ज होना था नहीं हो पाया। अलवर सामूहिक दुष्कर्म मामले के बाद भी पुलिस का रवैया नहीं बदला है।

और इधर नागौर में दुष्कर्म पीडिता ने की आत्महत्या

राजस्थान पत्रिका की खबर के अनुसार नागौर जिले के मकराना थाना क्षेत्र में एक नाबालिग 15 वर्षीय छात्रा ने केरोसिन उड़ेलकर खुद को जला लिया। जिससे उसकी मौत हो गयी।

बताया जा रहा है कि नाबालिग की ओर से करीब डेढ़ महीने पहले मकराना थाने में बलात्कार का मामला दर्ज करवाया गया था।

इसी के 20—25 दिन बाद नाबालिग व उसकी मां ने आरोपितों की ओर से मारपीट का मामला भी दर्ज करवाया था। दोनों मामले मकराना थाने में दर्ज हैं। हालांकि पुलिस की ओर से अभी आत्मदाह के मामले को लेकर कोई बयान नहीं आया है।