Jaipur News | चित्रकूट थाना क्षेत्र में करीब एक महीने पहले एक घर में करीब 67 लाख की नकबजनी की वारदात का खुलासा करते हुए पुलिस ने नामी डकैत समेत पांच अन्य लोगो को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार लोगो मे 3 चोरी के सामान के खरीददार है।

डीसीपी विकास शर्मा ने बताया कि 9 फरवरी को मोती नगर निवासी पीतराम सिंह के घर में नकबजनी की वारदात हुई थी, जिसमें करीब 67 लाख रुपए से अधिक के जेवरात व नकदी चोरी हुए थे।

इस मामले में नकबजनी गैंग के सरगना करौली टोडाभीम निवासी डकैत गोपाल उर्फ लालू (48) तथा इसके दो साथी नकबजन बांदीकुई निवासी मलखान सिंह गुर्जर (35) और बसवा निवासी सोनू उर्फ सोहन जोगी (37) को गिरफ्तार किया गया है।

डकैत गोपाल उर्फ लालू करीब 12 साल से बांदीकुई, केकडी, गंगापुर सिटी, बस्सी, भिंडर, उदयपुर, विराट नगर, कानोता, मंडावर, हिंडौन, बयाना, महवा में डकैती व पुलिस पर फायरिंग के मामले में फरार चल रहा था।

करौली पुलिस ने 2012 में उसपर एक हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया था।

नकबजनी का सामान खरीदने वाले सुनार गिरफ्तार

थानाधिकारी वीरेन्द्र सिंह कुरील ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों ने चोरी का माल बांदीकुई, गुढ़ाकटला व अन्य जगहों पर बेचा था।

गिरफ्तार डकैतों की निशानदेही पर माल खरीदने वाले आरोपी बांदीकुई निवासी सत्यप्रकाश उर्फ रिंकू (36), मनमोहन सोनी (55) और बसवा निवासी गोपाल सोनी (23) को भी गिरफ्तार किया।

CCTV फुटेज से पकड़े आरोपी

वारदात के बाद पुलिस सीसीटीवी कैमरों की मदद से आरोपियों की गाड़ी के नँबर दो डिजिट ढूंढने में कामयाब हो गई।उसके बाद चोरों को पकडऩे के लिए एडीशनल डीसीपी बजरंग सिंह के नेतृत्व में जिला तकनीकी शाखा के कांस्टेबल मुकेश सहित जिलेभर की टीम लगाई गयी।

पुलिस टीम ने मात्र दो डिजिट के आधार पर 100 से ज्यादा गाडिय़ां चैक करके चोरों की कार को चिन्हित कर लिया ।

चोरी के पैसे से मकान का निर्माण शुरू करवाया

पुलिस ने बताया कि आरोपी मलखान ने चोरी के माल से मिले रुपयों से अपने गांव में मकान का निर्माण शुरू किया। वहीं सोनू ने नई कार खरीद ली। चोरी के पैसे से आरोपी जुआ, सट्टा व अन्य शौक पूरा करते थे।

पुलिस पूछताछ में पकड़े गए आरोपियों ने शहर में 15 से ज्यादा जगह पर वारदात करना स्वीकार किया है। आरोपियों ने दादी का फाटक के पास एक मकान से पांच लाख रुपए व जेवरात चुराए थे।

झोटवाड़ा के बिंजारी मार्ग से एक मकान से पिस्तौल, कारतूस व अन्य सामान चुरा या था।

इसके अलावा इस गैंग ने मानसरोवर, दादी का फाटक, करणी विहार, मुरलीपुरा, विद्याधर नगर, वैशाली नगर में कई वारदात अंजाम दिया है।