आर्मी
image Pixabay
           

UP News | उत्तर प्रदेश के मेरठ कैंट मेें तैनात सेना के एक जवान को पाकिस्तान के लिए जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार सिग्नलमैन पद पर तैनात जवान करीब 10 माह से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी पाकिस्तान इंटेलिजेंस ऑपरेटिव (पीआईओ) से जुड़े लोगों के संपर्क में था।

सेना के कई गोपनीय दस्तावेज उसने वॉट्सएप के जरिये पाकिस्तानियों को भेजे। वह पश्चिमी कमान और इसके तहत आते कोर और डिवीजन से जुड़ी गुप्त जानकारी मुहैया करा रहा था।

पाकिस्तान के कई फोन नंबरों पर भी इस दौरान उसकी बात होती थी। सेना ने पकड़े गए सैनिक का नाम उजागर नहीं किया है। सूत्रों ने बताया कि आरोपी मूलरूप से उत्तराखंड का निवासी है। वह 10 साल से सेना में कार्यरत है। उसकी करतूतों की भनक आर्मी इंटेलिजेंस को करीब 3 माह पहले लगी थी।

गिरफ्तारी के बाद सेना पुलिस को उससे कई महत्वपूर्ण जानकारियां मिली है। इस मामले में सेना कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश देगी।

मेरठ कैंट में पहली बार कोई सैनिक पाकिस्तान के लिए जासूसी के आरोप में पकड़ा गया है। सेना की खुफिया एजेंसियां मामले की जांच में जुटी हैं। सिग्नल रेजीमेंट से जुड़े तमाम कार्यालयों में इन दिनों जांच-पड़ताल चल रही है। गिरफ्तार किए गए सैनिक के अलावा कुछ अन्य सैनिकों से भी अलग-अलग जगह पूछताछ जारी है।

ये भी पढ़ें :