bjp mahakumbh

मध्यप्रदेश में भोपाल में आयोजित भाजपा महाकुंभ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस पार्टी और उसके नेताओं पे जमकर बरसे, पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस हिंदुस्तान में किसी से गठबंधन नहीं कर पा रही तो विदेशों में गठबंधन तलाश कर रही हैं.

पीएम मोदी का इशारा हाल के दो बयानों पे था जिसमें पाकिस्तान के पूर्व गृहमंत्री रहमान मलिक और फ़्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांसुआ ओलांद  का बयान शामिल हैं.

रहमान मलिक ने राहुल गांधी को राफेल घोटाले का खुलासा करने का श्रेय देते हुवे कहा था कि वो भारत के अगले प्रधानमंत्री होंगे.वंही ओलांद ने कहा था कि मोदी सरकार ने अंबानी की कंपनी के अलावा राफेल डील के लिए अन्य कोई साझेदार उपलब्ध नहीं करवाया था .

पढ़िए किसने कहा राहुल का कांग्रेस अध्यक्ष होना शर्म की बात 

राहुल गांधी पर निशाना साधते हुवे पीएम मोदी ने कहा “उनकी पार्टी हिंदुस्तान में गठबंधन करने में सफल नहीं हो रही, इसलिए भारत के बाहर गठबंधन खोज रही है. दुनिया के देश अब तय करेंगे कि भारत में प्रधानमंत्री कौन होगा? कांग्रेस पार्टी, क्या हाल हो गया है आपका? क्या सत्ता खोने के बाद संतुलन भी खो दिया? कांग्रेस का गठबंधन देश की भलाई के लिए नहीं, पराजय के डर से पैदा हुआ है. कांग्रेस आज हर छोटे दल के पैर पकड़ रही है.

भाजपा महाकुंभ में दस लाख कार्यकताओं के आने की संभावना थी मगर सूत्रों के अनुसार संख्या तीन से चार लाख के मध्य रही हालांकि भाजपा के पदाधिकारी छ से सात लाख लोगो के महाकुंभ में भाग लेने की बात कह रहे हैं .

भाजपा कार्यकर्ता महाकुंभ में अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी अभी स्वप्नों ने खोये हैं मगर प्रधानमंत्री नहीं बन पायेंगे वंही शिवराज सिंह ने राहुल गांधी को “फन मशीन ” बताया कि जंहा भी जाते हैं मजाक के पात्र बन जाते हैं.

पढ़िए पीएम मोदी के भाजपा कार्यकर्ता महाकुंभ में भाषण के अंश :-

  • कांग्रेसवालों आप इस पर विचार करो कि हमने चुनाव हारने के बाद ईवीएम मशीन को गाली देकर अपना पल्ला नहीं झाड़ा। आप 440 से 44 हो गए, लेकिन आत्मचिंतन करने को तैयार नहीं। अहंकार है कि गद्दियां रिजर्व हैं। इन पर चायवाला, गरीब मां का बेटा शिवराज, गरीब मां का बेटा योगी नहीं बैठ सकता। खानदानी हक है, जिनका वही बैठ सकते हैं। लोकतंत्र में ये आपको मंजूर है क्या?
  • “आपने (कांग्रेस) ने पूरी ताकत लगा दी मुझे गालियां देने में। डिक्शनरी की कोई गाली नहीं है जो आपने मेरे लिए उपयोग न की हो। आपके एडवाइजर से पूछ लीजिए आपने जितना कीचड़ उछाला है, कमल उतना ही खिला है।”
  • “कौन लोग थे, जिन्होंने मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य की सूची में डालने के लिए काले कारनामे किए थे? कितनी मेहनत लगी मध्यप्रदेश को विकासशील राज्य बनाने में। केंद्र में अब ऐसी सरकार बैठी है, जो राज्यों को आगे बढ़ाने में विश्वास करती है। मुझे सेवा का अवसर चाहिए भाइयों। शिवराज जी ने गति दी है, दिल्ली में हमें जितना अवसर दिया, हमने साथ और सहयोग दिया। अब मौका है नई छलांग लगाने का।”