gehlot write letter to modi for debt vaiver
  • गहलोत ने लिखा पीएम मोदी को राष्ट्रव्यापी किसान कर्जमाफी की घोषणा कर राहत देनी चाहिए.
  • कर्ज माफ़ी से पड़ने वाला वित्तीय भार राज्य सरकार के बूते से बाहर हैं.

जयपुर| चुनावी फायदा लेने हेतु कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का दस दिन में कर्ज माफ़ी का पैंतरा अशोक गहलोत के गले की घंटी बन गया हैं. जंहा एक तरफ किसानो का दबाव बढ़ रहा हैं और लोकसभा चुनाव में वोट बैंक खिसकने की आशंका हैं वंही विधानसभा सत्र में गुलाबचंद कटारिया और हनुमान बेनीवाल अशोक गहलोत को घेरे हुवे हैं.

अशोक गहलोत ने सीएम बनते ही किसानो को दो लाख कर्ज माफ़ी की घोषणा तो कर दी पर अभी तक एक भी किसान के खाते में पैसा जमा नहीं हो पाया हैं. प्रतिपक्ष के नेता गुलाबचंद कटारिया ने विधानसभा में प्रश्न किया कि सरकार बताये कितने किसानो का कर्जा माफ़ हुवा हैं.

हालांकि अशोक गहलोत ने किसानो को खुश करने हेतु कई मत्वपूर्ण घोषणा की है, परन्तु किसान खुश नहीं हैं इसी बात को लेकर हनुमान बेनीवाल भी सरकार के पीछे पड़े है. बेनीवाल सम्पूर्ण कर्ज माफ़ी तथा मूंग और मूंगफली की समर्थन मूल्य खरीद चालू करने पर अड़े हैं.

इसी के चलते अशोक गहलोत ने पीएम मोदी से सहायता की मांग की हैं, अशोक गहलोत ने मोदी को पत्र में लिखा हैं कि राज्य सरकार के पास कर्ज माफ़ी हेतु धन की कमी हैं अतः केंद्र सरकार किसानो के हित में पूरे देश में कर्ज माफ़ी की घोषणा कर राहत पहुंचाए.एक और पत्र के जरिये अशोक गहलोत ने मूंग खरीद का लक्ष्य और तिथि बढ़ाये जाने की भी मांग की हैं.

अशोक गहलोत ने पीएम मोदी को पूरे देश में किसानो की कर्ज माफ़ी के लिए लिखा पत्र
अशोक गहलोत ने पीएम मोदी को पूरे देश में किसानो की कर्ज माफ़ी के लिए लिखा पत्र
अशोक गहलोत द्वारा मोदी को लिखा गया पत्र ..
अशोक गहलोत द्वारा मोदी को मुंग के समर्थन मूल्य हेतु लिखा गया पत्र ..