Student Playing PUBG closed himself in the bathroom

उदयपुर . हिंसा से भरे विडियो गेम कितने खतरनाक हो सकते हैं इसका एक मामला उदयपुर में सामने आया जंहा 14 वर्षीय एक छात्र ने पबजी गेम ( PlayerUnknown’s Battlegrounds) का लेवल पूरा नहीं होने पर खुद को बाथरूम में बंद कर लिया और जमकर तोड़फोड़ मचाई. सुखेर क्षेत्र में रहने वाले विक्की को पड़ोसियों और घर वालों ने दरवाजा तोड़कर बाहर निकाला फिर पुलिस को सूचना दी.

जब चाइल्ड हेल्प लाइन ने उससे काउंसलिंग की तो उसने बताया कि वह क्रिकेट का अच्छा खिलाड़ी है. डेढ़ माह पहले किसी रिश्तेदार ने उसे हिंसक वीडियो गेम PUBG के बारे में बताया तो वह उसे लगातार खेलने लगा. एक माह से वह मोबाइल पर पूरी-पूरी रात यह गेम को खेल रहा था.

विक्की का अलग कमरा होने से परिजनों को पहले इसका पता नहीं चला लेकिन जब वह स्कूल के लिए बहानेबाजी करने लगा तो परिजनों को शक हुआ. उन्होंने उसे गेम खेलते हुए पकड़ लिया. घर से बाहर निकलना बंद कर दिया. बातचीत करने पर वह झगड़े के साथ ही तोडफ़ोड़ करने लगा.उसने घर पर वाशिंग मशीन गिरा दी, कूलर तोड़ दिया. कई सामान को क्षतिग्रस्त कर भारी नुकसान पहुंचाया.

PUBG गेम हिंसक गेम हैं और इसको खेलने से बच्चों में कई मानसिक विकार पैदा हो सकते हैं . काउंसलिंग के बाद सातवीं कक्षा का छात्र अब सामान्य है.